CM योगी

5 सितंबर 2021 को शिक्षक दिवस के मौके पर CM योगी ने महात्मा गांधी को लेकर कहा की महात्मा गांधी ने काशी की गंदगी पूरी दुनिया को दिखाई, आज नय कलेवर में.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिक्षक दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘प्रबुद्ध सम्मेलन’ में अपने संबोधन के बिच में महात्मा गांधी को लेकर बड़ा बयान दे डाला, उन्होंने कहा की “महात्मा गाँधी ने वर्ष 1916 में काशी की गंदगी को दुनिया के सामने रखा था, लेकिन आज काशी नए कलेवर में प्रस्तुत है. यहां दंगों के बिना कोई त्योहार नहीं होता था, चार सालों में प्रदेश में व्यापक परिवर्तन दिखाई पड़ रहा है”.

CM योगी ने अपने संबोधन में आगे कहा की “सभी ने अपने क्षेत्र में कार्य किया, उत्तर प्रदर्श के बारे में जो गलत धारणाएं थीं वे चार सालों में सही हुई हैं”. उन्होंने इस सम्मेलन में यह भी कहा “यहाँ देश में वर्ष 1947 से सरकारें आ रही हैं और जा रही हैं, लेकिन सभी एक सीमित सोच लेकर आईं. किसी ने भी काशी की महत्ता को समझने की कोशिश नहीं की”. बता दें की उन्होंने इस दौरान महादेव की नगरी माने जाने वाली काशी की खूब प्रशंसा करी.

उन्होंने कहा की “एक सरकार ऐसी भी आई थी, जिसने सोमनाथ मंदिर के कार्यों का विरोध किया था और एक य़े सरकार है जो कि राम मंदिर बनवाने के लिए काम कर रही है”. अपने भाषण को जारी रखते हुए उन्होंने कहा “प्रधानमंत्री ने मुझे बुलाया और पूछा कि प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का आयोजन दिल्ली के बजाय काशी में हो सकता है. मैंने कहा कि बिल्कुल हो सकता है तो पीएम ने मुझे इस संबंध में विदेश मंत्रालय से बात करने को कहा. विदेश मंत्रालय के अधिकारियों को लगता था कि वाराणसी में होटल नहीं होने के कारण प्रवासी लोग कहाँ रुकेंगे तो हमने कहा कि वो धर्मशाला में रुकेंगे. इसके बाद हमने काशी में ‘टेंट सिटी’ तैयार कर दी और ये काशी का महत्व है कि जिन्हें हमने होटलों में रुकवाया था वो भी होटल छोड़कर टेंट में आ गए थे”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

पहले हिंदुओं के त्योहारों पर लगती थीं बंदिशें, अब कोई रोक नहीं :CM योगी का देखें पूरा वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: