मनीष सिसोदिया

दिल्ली शराब घोटाले के मामले में ED प्रदेश के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को बड़ा दावा किया है, ED की माने तो उन्होंने सबूतों को नष्ट किया और कई बार फोन भी बदले।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली (Delhi) के शराब घोटाले मामले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय यानि ED ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (MAnish Sisodia) सहित कई आरोपितों ने कई बार अपने-अपने फोन बदले और सबूतों को भी इस दौरान नष्ट कर दिया। ED ने इसके बारे में कोर्ट को भी विशेष जानकारी दी है। इसके साथ ही इस मामले के मुख्य आरोपी अमित अरोड़ा को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बताया यह भी जा रहा है कि जाँच एजेंसी ED ने बुधवार (30 नवंबर 20122) को दिल्ली की एक विशेष कोर्ट को बताया कि गिरफ्तार किए गए दिल्ली के व्यवसायी आरोपित अमित अरोड़ा और प्रदेश के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Deputy CM Manish Sisodia) ने 11 फोन प्रयोग में लिए और बदले भी। ये फोन कथित शराब घोटाले के दौरान ही इस्तेमाल किए गए और उसी दौरान बदले भी गए थे।

गौरतलब है कि इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने राउज एवेन्यू कोर्ट में बताया, “इसकी भयावहता इतनी अधिक है कि अधिकांश संदिग्ध, शराब कारोबारी, वरिष्ठ सरकारी अधिकारी, दिल्ली के आबकारी मंत्री (मनीष सिसोदिया) और अन्य संदिग्धों ने कई बार अपने फोन बदले हैं। उपयोग किए गए और नष्ट किए गए उपकरणों का अनुमानित मूल्य लगभग 1.38 करोड़ रुपए है।”

आपको जानकारी देते चलें कि प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली शराब नीति घोटाले की जाँच के मामले में व्यवसायी अमित अरोड़ा की 7 दिनों की हिरासत को मंजूर करा लिया है। वहीं अमित अरोड़ा को वित्तीय जाँच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (Financial Investigation Agency Enforcement Directorate) ने बुधवार (30 नवंबर 2022) को गिरफ्तार किया। इसके बाद उसे कोर्ट में कानूनी तौर पर पेश भी किया गया।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

‘सीबीआई वालों ने बोला AAP छोड़ दो, CM बना देंगे’ मनीष सिसोदिया ने कैमरे के सामने दिया बयान

%d bloggers like this: