गहलोत

राजस्थान में इस समय अशोक गहलोत के नेतृत्व में कॉंग्रेस की सरकार है और हाल ही में उनके एक मंत्री ने हिंदू आस्था पर हमला करते हुए गलत टिप्पणी जारी कर दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजस्थान की गहलोत सरकार में मंत्री गोविंद मेघवाल ने हिंदुओं के त्योहार करवाचौथ पर विवादित टिप्पणी की है। उनका कहना है कि करवाचौथ के मौके पर जो औरतें छलनी का प्रयोग करती हैं वो अंधविश्वास का शिकार हैं। सबसे पहले आप इस वीडियो को देखिए, जिसमें कॉंग्रेस मंत्री ने हिंदू आस्था पर सवाल उठाते हुए ये बातें कही:-

आपको बताते चलें कि गोविंद राम मेघवाल ने शनिवार (20 अगस्त 2022) रात जयपुर के बिरला ऑडिटोरियम में डिजीफेस्ट के कार्यक्रम में अपना यह बयान दिया। उन्होंने वेदांता ग्रुप के चेयरमैन अनिल अग्रवाल के भाषण की तारीफ की और बोले, “चीन में 80 फीसदी महिलाएँ काम करती हैं,अमेरिका में 50 फीसदी महिलाएँ काम करती हैं, इसलिए ये देश विज्ञान की दुनिया में जी रहे हैं। लेकिन हमारा दुर्भाग्य है कि हमारे यहाँ करवाचौथ पर महिलाएँ छलनी को देखती हैं।”

वहीं गोविंद मेघवाल ने आगे छलनी वाली रस्म को अंधविश्वास से जोड़ा और कहा कि यहाँ केवल जाति-धर्म के नाम पर लड़वाने का काम हो रहा है। इसके बाद वह महात्मा ज्योतिबा फुले और डॉ अंबेडकर का उदाहरण देते दिखे और बताया कि शिक्षा बहुत जरूरी है। शिक्षा के बिन बुद्धि नहीं आएगी और बिन बुद्धि के पैसा नहीं आएगा। जीवन पशु के बराबर हो जाएगा।

गौरतलब है कि गोविंद मेघवाल ने भले ही अपने बयान को शिक्षा के साथ जोड़ बैलेंस किया हो, लेकिन उन्होंने अपने बयान में जो हिंदू आस्थान पर सवाल उठाए उससे भाजपा भड़क गई है। बीजेपी के प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा कि हिंदू आस्थाओं का मजाक उड़ाना कॉन्ग्रेस नेताओं की परंपरा बन गई है। मंत्री ने हिंदुओं की आस्थाओं का मजाक उड़ाया है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

दलित के घर बिसलेरी लेकर पहुंचे कॉंग्रेस प्रदेशाध्यक्ष, देखिए दोनों तस्वीरों में अंतर!

One thought on “गहलोत सरकार के मंत्री ने उठाए हिंदू आस्था पर सवाल, कहा ‘करवा चौथ पर छलनी से देखना, दुर्भाग्य’”

Comments are closed.

%d bloggers like this: