भारत और चीन के बिच चल रहे सीमा विवाद के बिच अब चीन की नई करतूत निकल कर सामने आई है, सबूतों के आधार पर माना जा रहा है की मुंबई ब्लैक आउट के पीछे चीन की साजिश थी.

ब्लैक आउट

भारत और चीन के बिच कोरोना काल के समय से ही सीमा विवाद चल रहा है, इस दौरन चीन ने भारत और भारतीय सेना को परेशान करने के लिए कई तरकीबें लगाई थी. लेकिन भारतीय सेना ने इसकी प्रत्येक हरकत का इसे मुंह तोड़ जवाब भी दिया था.

अब एक खुलासे में हेरान करने वाली खबर सामने आ रही है जो चीन और भारत के बिच के विवाद को ओर अधिक उलझा सकती है, दरअसल 2020 में हुए मुंबई ब्लैक आउट में चीन को दोषी माना जा रहा है.

मुंबई ब्लैक आउट 2020

आपको बता दें की असल में ब्लैक आउट का सही माइने में अर्थ क्या है? दरअसल 12 अक्टूबर 2020 को ग्रिड में खराबी के कारण मुंबई के कई इलाकों में बिजली गुल हो गई थी, इस पुरे घटना कर्म को मुंबई ब्लैक आउट 2020 नाम दिया गया.

इस मुंबई ब्लैक आउट 2020 के इतने समय बीत जाने के बाद खबर सामने आ रही है की इसमें पड़ोसी देश चीन का हाथ था. चीन इस हरकत के जरिए भारत देश पर दबाव बनाना चाहता था. अमेरिका की एजेंसी के हवाले से न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर में दावा किया गया है, कि चीन मुंबई के बाद अब पूरे देश के पॉवर ग्रिड पर साइबर अटैक कर सकता है.

अमेरिका ने भारत का दिया साथ

ऐसे विवादित माहौल में भी संयुक्त राष्ट्र अमेरिका भारत के साथ खड़ा है, आपको बता दें की यू. एस. ऐ. के एक सांसद फ्रेंक पैलोन ने वर्तमान राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन से चीन की हरकतों के खिलाफ आवाज उठाने और भारत के साथ खड़े होने की मांग की है.

अमेरिकी सांसद फ्रेंक पैलोन ने अपने ट्वीट में लिखा की “अमेरिका को हमारे रणनीतिक साझेदार के साथ खड़ा होना चाहिए और भारत के ग्रिड पर चीन के खतरनाक साइबर हमले की निंदा करनी चाहिए, जिसने अस्पतालों को महामारी के बीच जनरेटर पर जाने के लिए मजबूर किया. हम बल और धमकियों के माध्यम से चीन को इस क्षेत्र पर हावी होने की अनुमति नहीं दे सकते”.

इसे भी पढ़ें:-

हिंदू महासभा ने राजधानी में गोडसे यात्रा निकालने की तैयारी, बाबूलाल चौरसिया है

By Sachin

One thought on “मुंबई ब्लैक आउट साजिश में चीन के खिलाफ अमेरिका, जानिए पूरी रिपोर्ट”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *