गरबा

गरबा और डांडिया के कार्यक्रम में मुस्लिम युवक अपनी पहचान बदलकर घुस आए, घुसने के बाद वे हिन्दू लड़कियों का वीडियो भी बनाने लगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नवरात्रि का महोत्सव चल रहा है। ऐसे में चहुँओर गरबा और डांडिया की धूम है। लेकिन आमतौर पर हिंदुओं के त्योंहारों में विचरण करने से बचने वाले मुस्लिम इन कार्यक्रमों में बिन बुलाए अतिथि के तौर पर पहुँच रहे हैं। ताजा मामला गुजरात के अहमदाबाद और मध्य प्रदेश के इंदौर शहर का है, जहाँ अपनी पहचान छिपाकर कुछ मुस्लिम गरबा के कार्यक्रम में घुस गए और हिंदू लड़कियों का वीडियो बनाने लगे।

असलियत का पता लगते ही इनकी जमकर कुटाई की गई। इसी क्रम में बुधवार इंदौर स्थित पंढरीनाथ चौराहे पर बनाए गए गरबा पंडाल में कुछ मुस्लिम युवकों ने घुसपैठ की। ये लोग वहाँ जाने के बाद मोबाइल से लड़कियों के फोटो और वीडियो बना रहे थे। वहाँ पर मौजूद बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को इनकी हरकतें भी अजीब लगीं।

इसके बाद जब युवकों को किनारे बुलाकर उनसे पूछताछ की गई और उनकी आईडी माँगी गई तो उन्होंने आईडी भी नहीं दी और अपने नाम भी गलत बताए। जैसे ही इनकी असली पहचान उजागर हुई तो उन्हें पीटने के बाद पुलिस को सौंप दिया गया। मामले में 7 मुस्लिमों को गिरफ्तार किया गया है। बाद में इन्हें कोर्ट में भी पेश किया गया, जहाँ से उन्हें जमानत दे दी गई।

इसी तरह से गुजरात के अहमदाबाद में भी मुस्लिम युवक अपनी पहचान छिपाकर दुर्गा पंडाल में घुस गए। हालाँकि, जैसे ही इनकी पहचान उजागर हुई बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने इन्हें जमकर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही वीएचपी ने ये अनिवार्य किया था कि गरबा में इस बार आईडी देखने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। विश्व हिंदू परिषद का तर्क था कि गरबा कार्यक्रमों में आकर मुस्लिम लव जिहाद जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

डांडिया-गरबा कार्यक्रमों में गैर हिन्दू की नो-एंट्री, VHP की बड़ी अपील: वीडियो भी वायरल

%d bloggers like this: