ओवैसी

हाल ही में दक्षिणी दिल्ली के मेयर ने नवरात्रि के दौरान मीट बैन को लेकर आदेश जारी किया है, इसको लेकर ओवैसी पीएम मोदी पर भड़क उठे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के महापौर मेयर मुकेश सूर्यान ने निगमायुक्त ज्ञानेश भारती को एक चिठ्ठी लिख उचित कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। महापौर ने चिट्ठी में लिखा की नवरात्रों के मद्देनजर हिंदू अपने देवी देवताओं की पूजा करते हैं, लेकिन कई जगह खुले में मांस बेचा जाता है। इससे भावनाएं आहत होती हैं।

कर्नाटक के कोलार में हुई करौली जैसी घटना, राम भक्तों पर बरसे पत्थर: देखें पत्थराव का पूरा वीडियो

इस पत्र में उन्होंने आगे लिखा की नवरात्रि के दौरान पूरी तरह लोग शाकाहार पर होते हैं और नॉनवेज, शराब के साथ ही कुछ खास मसालों से भी परहेज करते हैं। इस दौरान लोग प्याज और लहसुन भी नहीं खाते, ऐसे में मंदिरों के आसपास मीट की दुकानों से वह असहज हो सकते हैं। वहीं इसको लेकर अब इसी बात को ध्यान में रखते हुए 11 अप्रैल तक मांस की दुकानों को बंद करने के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश जारी किए गए हैं।

गौरतलब है अब इस आदेश पर AIMIM के नेता और सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की प्रतिक्रिया सामने आई है, उन्होंने इस संदर्भ में ट्वीट कर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) से ही प्रश्न पूछ लिया। ओवैसी ने ट्वीट में लिखा की पीएम मोदी बड़े उद्योगपतियों के लिए ईजी ऑफ डूइंग बिजनेस का इंतजाम करते हैं। ऐसे में इस फैसले की वजह से लोगों की इनकम को होने वाले नुकसान की भरपाई कौन करेगा? मांस अशुद्ध नहीं है, यह सिर्फ लहसुन या प्याज जैसा भोजन है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए

गरीब की दुकान, मकान या झोपड़ी पर नहीं चढ़ेगा बुलडोजर, सीएम योगी ने जारी किए सख्त निर्देश

One thought on “मीट की दुकानों को ताला लगने पर मोदी पर भड़के ओवैसी, कहा “मांस अशुद्ध नहीं है””

Comments are closed.

%d bloggers like this: