नरसिंहानंद

कानपूर में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ने एक पोस्टर जारी किया, जिसमें यति नरसिंहानंद और वसीम रिजवी का सर धड़ से अलग करने की बात लिखी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में डासना के शिव – शक्ति मंदिर के महंत स्वामी यति नरसिंहानंद सरस्वती और शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी का सर काटने का एक ओर भड़काऊ पोस्टर कानपूर की सड़कों पर देखा गया. गोरतलब है की पुलिस ने जवाबी कारवाही करते हुए पोस्टर को हटवा दिया है और इस मामले में FIR भी दर्ज कर ली गई है.

नरसिंहानंद

नरसिंहानंद और रिजवी का लगा पोस्टर

यूपी के कानपूर में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन की ओर से सड़कों पर आपत्तिजनक पोस्टर लगाए जा रहे हैं, इन पोस्टरों में लोगों को हत्या के लिए उकसाने की बात लिखी जा रही है. बता दें की असदुद्दीन ओवैसी लगातार महंत और रिजवी का अपने भाषणों में विरोध करते आ रहें हैं.

AIMIM कानपूर के नाम से दो पोस्टर कानपूर सड़कों पर देखने को मिले हैं. पहले पोस्टर में महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती और वसीम रिजवी का सर किसी धारदार हथियार से कटा हुआ दिखाकर ऊपर लिखा की “गुस्ताख ऐ रसूल की एक ही सजा, सर तन से जुदा, सर तन से जुदा”, एक अन्य पोस्टर में भी महंत और रिजवी के चहरे पर एक कुत्ता और एक बच्चे को पिसाब करते दिखाया गया है.

नरसिंहानंद

यति नरसिंहानंद सरस्वती ने किया ट्विट

इस पोस्टर को अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर करते हुए डासना के मंदिर के महंत स्वामी यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा की “यह AIMIM का नहीं इस्लाम का वास्तविक दृश्य है, सामूहिक हिंसा का जन्मदाता है इस्लाम और यह मुहम्मद के अनुयायी असदुद्दीन ओवैसी की राजनीतिक पार्टी AIMIM का बैनर है”.

कानपूर पुलिस ने भी इनके ट्वीट का जवाब देते हुए कहा की “दिनांक 12.04.2021 को कानपुर में एक आपत्तिजनक व धार्मिक रूप से भड़काऊ पोस्टर को लगाए जाने के सम्बन्ध में FIR दर्ज की गई है, चमनगंज थाने में धारा 153A, 295A के तहत शिकायत दर्ज कर ली है, अब आरोपितों की पहचान कर आगे की कार्रवाई होगी”.

इसे भी जरुर पढिए:-

यति नरसिंहानंद का ‘सर तन से जुदा’ वाली धमकी का नया वीडियो

By Sachin

2 thoughts on “ओवैसी की पार्टी ने नरसिंहानंद, रिजवी का सर धड़ से अलग करने वाला जारी किया पोस्टर”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *