Unacademy

भारतीय शैक्षिक तकनीकी कंपनी ‘Unacademy’ पर हिंदू घृणा वाले एजेंडे को लेकर लोगों का सोशल मीडिया पर विरोधाभाष देखने को मिल रहा हैं.

भारत में अक्सर देखा गया है की चंद लोकप्रियता बढ़ाने के लिए कुछ संस्थाएं हिंदू घृणा के एजेंडे का प्रयोग करती हैं, ‘Unacademy’ भी उसी सूचि में शामिल हो चुकी हैं. बता दें की अनअकादमी एक भारतीय ऑनलाइन शैक्षिक तकनीकी कंपनी (Indian Online Educational Technology Company) हैं, जिसका मुख्यालय कर्नाटक के बैंगलोर में स्थित हैं. 2010 से यह केवल एक YouTube Chennel ही था, जिसका क्रेअटर गौरव मुंजार नाम का व्यक्ति था. 2015 में इसे कम्पनी का रूप दे दिया गया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ‘Unacademy’ ने छात्रों को हिंदुफोबिया एजेंडे के तहत एक झूठ परोसा, एक प्रश्न में पूछा गया की “X नाम के एक शहर में मुस्लिम लोगों का एक समूह अपनी रैली निकाल रहा था. वे अपने नारे लगा रहे थे और अपना त्यौहार मना रहे थे. जब वे एक हिन्दू बहुल कॉलोनी की गलियों से गुजर रहे थे, तो क्षेत्र के हिन्दुओं ने उन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी और दावा किया कि उन्होंने हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई है. क्या ये दावा सही है?”

ऐसे प्रश्न के बाद नीचे तीन विकल्प भी दिए गए –

  • हाँ, उन्होंने शब्दों के द्वारा, यानी नारे लगा कर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई
  • हाँ, उन्होंने दृश्यप्रस्तुति के द्वारा, यानी उस इलाके में रैली निकाल कर हिन्दुओं को धार्मिक भावनाओं को आहत किया
  • नहीं, उनका इरादा किसी भी वर्ग के नागरिकों यानी हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का नहीं था

गोरतलब है की अनअकादमी ने इस प्रश्न में किसी भी शहर का नाम नहीं दर्शाते हुए केवल ‘X’ शब्द का प्रयोग किया, क्योंकि ऐसा कोई शहर है ही नहीं जहां ऐसी शर्मनाक घटना हुई हो. लेकिन इससे बिल्कुल विपरीत घटनाएँ देश के कई शहरों और इलाकों से देखने को मिली हैं.

बता दें की हालिया मामला तमिलनाडु के पेरंबलुर जिले का वी कलाथुर मुस्लिम बहुल इलाका है और यहां के मुसलमानों ने हिंदू त्योहारों की रैली के विरुद्ध हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी, मगर कोर्ट ने फटकार लगाते हुए इसे ख़ारिज कर दिया था. इसके अलावा जब अयोध्या में बनने जा रहे श्री राम मंदिर निर्माण के लिए धनराशी एकत्रित की जा रही थी, तब भी मुस्लिम भीड़ ने हिंदुओं पर पत्थराव किया था.

‘Unacademy’ का यह कोई एक मामला नहीं है जिसमें हिंदू घृणा दिखती हो, इससे पहले भी कई अन्य लोगों ने भी अनअकादमी द्वारा इस तरह हिन्दूघृणा फैलाने के सबूत दिए. एक ‘Unacademy Plus’ के सब्सक्राइबर ने बताया कि बच्चों की अंग्रेजी की पुस्तकों के माध्यम से आयुर्वेद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रोपेगंडा चलाया जा रहा है, UPSC की तैयारी के लिए इस पोर्टल का प्रयोग करने वाले छात्रों का भी कहना है कि वीडियो लेक्चर्स के जरिए हिन्दू विरोधी प्रोपेगंडा फैलाया जा रहा है. इस पर अब लोगों का गुस्सा भी फोट रहा है.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

Scroll ने भी योगी आदित्यनाथ पर फैलाई झूठी खबर, अब हुआ पर्दाफाश

One thought on “Unacademy के हिंदू घृणा वाले एजेंडे पर भड़के लोग, फूटा गुस्सा”

Leave a Reply

%d bloggers like this: