बक्सर

बक्सर (Buxar) जिले से उस खबर ने देश को सहमा दिया. जब लोगों को पता चला की बक्सर नगर के गंगा किनारे लाशों के ढेर लग गए है और गौर करने वाली बात यह है की इन लाशों के ढेर का कारण उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की नाकामी बताई जा रही हैं.

बक्सर

बिहार राज्य के बक्सर (Buxar) जिले में गंगा किनारे लाशें ही लाशें तेरती हुई नज़र आ रही हैं. लेकिन गौर करने वाली बात यह है की बिहार में मिली लाशों का कारण उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को बताया जा रहा हैं. एक मीडिया रिपोर्ट की माने तो कोरोना वायरस की इस दूसरी लहर में यूपी की योगी सरकार बराबर व्यवस्था नहीं रख पाई जिसके कारण लोगों के मौत का आंकड़ा बढ़ गया और श्मशान घाट में लोगों के शवों को जलानी की भी जगह नहीं मिल रही है जिस वजह से परिजनों को इन शवों को मजबूरन गंगा में बहाना पड़ रहा हैं. वहीं कुछ रिपोर्ट में यह कहा गया है की श्मशान घाट इन शवों का अंतिम संस्कार के लिए ज्यादा रुपए मांग रहे है जो की गरीब लोगों के लिए देना असम्भव हो रहा हैं. इसी कारण उन लोगों को अपने परिजनों के शवों को गंगा में बहाना पड़ रहा हैं.

China ‘2015’ से कोरोना को वेपन बनाना चाहता था, जानिए पूरा रिपोर्ट

आपको बता दें की बक्सर जिला बिहार और यूपी बोर्डर पर स्थित हैं. जिसमें नगर के किनारे तो लाशें मिली, बल्कि बक्सर जिले के कई गाँवों का भी यही हाल रहा जहां गंगा किनारे लाशें मिली. इन शवों पर स्थानीय लोगों का कहना है की ‘आसपास के गांवों में पिछले एक-डेढ़ महीने से मौतें अचानक बढ़ गई हैं. मरने वाले सभी खांसी-बुखार से पीड़ित थे. यहां के चौसा श्मशान घाट पर आने वाले ज्यादातर शवों को गंगा में डाल दिया जा रहा है, इनमें से सैकड़ों शव किनारे पर सड़ रहे हैं’. इनकी माने तो यह सारे शव आस-पास के गांवों से बहकर आ रहे हैं. लेकिन प्रशासन का तो कुछ और ही कह रहा हैं. प्रशासन का कहना है यह शव उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (इलाहाबाद) और वाराणसी से बहकर यहां बक्सर तक पहुंच रहे हैं.

यह भी पढ़ें :-

Lancet ने कोरोना के बढ़ते मामलों का ठीकरा PM मोदी पर फोड़ा

Leave a Reply

%d bloggers like this: