PM मोदी ने आज गुजरात के केवाडिया में संविधान दिवस पर समारोह के आयोजन में देश को सम्बोधित करते हुए कहा की इस समय देश को वन नेशन और वन इलेक्शन को बहुत जरूरत है.

PM मोदी ने अपने सम्बोधन के पहले तो 26 नवम्बर 2008 को महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में हुए आतंकी हमले में हुई सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा की हम सब उस दिन की चोट को कभी नहीं भूल सकते हैं.

वन नेशन और वन इलेक्शन की जरूरत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज केवाडिया में अपने सम्बोधन में सबसे अहम जो बात उन्होंने कही की देश को इस समय वन नेशन और वन इलेक्शन की सख्त आवश्कता है, PM मोदी बोले की देश में आए दिनों कहीं न कहीं चुनाव होते रहते ही हैं. इसलिए इस विषय पर अब विचार करने का समय आ गया है.

pm मोदी

PM मोदी ने कहा – देश और दुनिया भर में कोरोना महामारी के ऐसे कठिन प्रीस्त्थितियों में भी भारत की चुनाव प्रणाली की शक्ति को सब ने देखा. वे बोले इतने बड़े पैमाने पर चुनाव करवाना, समय पर ही नतीजे निकलना और विधिवत रूप से नई सरकार भी बनाना, ये सब कुछ जैसा दीखता है उतना सरल भी नहीं होता है.

उन्होंने इन सब का श्रय संविधान को दिया है, PM मोदी बोले की हमें हमारे संविधान की एक अहम ताकत भी मिली है क्योंकि संविधान की मजबूती के कारण ही इस कठिन समय में ये सब इतनी सरलता से कर दिखाया.

आतंकवाद को खुली चेतावनी

PM मोदी के 26/11 को मुंबई में हुए आतंकी हमले पर शौक जताते हुए आतंकवाद को कड़ी चुनोती भी दी, प्रधानमंत्री ने कहा की अब का भारत आतंकवाद का सामना नई नीती और नई रीती के साथ करने वाला है.

वर्ष 2008 में हुए हमले में कई लोगों जानें चली गई थी किन्तु आज का भारत नई रीती और नई नीती के साथ ऐसी चुनोतियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देगी

ये भी पढ़े 

कोरोना वैक्सीन:- भारत में बन रही तीनों वैक्सीन के अंतिम परिक्षण का जाएजा लेने पहुंचेंगे PM मोदी

 

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: