पीएम मोदी

देश के पीएम मोदी ने मंगलवार (1 नवंबर, 2022) को गुजरात के मोरबी पहुँचकर अस्पताल में घायल लोगों से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मोरबी दौरे पर हैं। पीएम मोदी ने 11 नवंबर 2022 को गुजरात के मोरबी पहुँचकर अस्पताल में घायल हुए लोगों से मुलाकात की और उनके हाल का जायजा लिया। वहीं PM Modi ने रेस्क्यू ऑपरेशन की जानकारी ली। वहीं गुजरात के मोरबी ब्रिज पर हुए हादसे में 141 लोगों के मरने की ख़बर हैं।

पीएम मोदी ने गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल और गृहमंत्री के साथ घटनास्थल का दौरा किया। मच्छु नदी में खोज और रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इसके अलावा पीएम मोदी ने मोरबी हादसे पर हाई लेवल मीटिंग की है। इस हाई लेवल हुई मीटिंग में पीएम मोदी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस मामले की एक विस्तृत जाँच होनी चाहिए, और यह हादसा कैसे हुआ, क्यों हुआ? इसका पता लगाया जाए।

जो भी दोषी हो उन पर सख्त कार्रवाई हो

PM Modi ने अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा, “जांच पूरी तरह क्लीन होनी चाहिए। जांच तथ्यों के आधार पर होनी चाहिए। जांच पूरी तरह साइंटिफिक होनी चाहिए। राजनीतिक या अधिकारीयों के दबाव में जांच न हो। जो भी दोषी हो उन पर सख्ती से कार्रवाई हो। पीड़ितों की सभी जरुरतें मानवता के आधार पर पूरी की जाए और उनके लिए फ्यूचर प्लानिंग की जाए।”

रेस्क्यू ऑपरेशन टीम से पीएम मोदी ने बातचीत की

दरअसल, पीएम मोदी ने घायल हुए लोगों से मिलने से पहले उन अधिकारियों से मुलाकात की, जिन्होंने कई घंटों तक यह रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। न्यूज़ एजेंसी एएनआई (ANI) ने पीएम मोदी की वीडियो साझा की, जिसमें वह अधिकारियों से ​इस मामले पर बातचीत करते दिखाई दे रहे हैं। वहीं गुजरात सरकार ने मोरबी पुल हादसे में जान गँवाने वालों को श्रद्धांजलि देने के लिए 2 नवंबर को राज्यव्यापी शोक की घोषणा की है।

140 साल पुराना ब्रिज

गौरतलब है कि मोरबी ब्रिज पर हुए इस हादसे में अब तक 141 लोगों की मौत हो गई है, और लगभग 100 लोग घायल हुए हैं। 140 साल पुराने यह ब्रिज बीते 7 महीनों से निर्माणधीन अवस्था में हैं।। जिसके कारण इस पुल को बंद किया गया था। रेनोवेट के बाद 25 अक्टूबर 2022 को इसे चालू किया गया था। पुल की लंबाई 200 मीटर व चौड़ाई 4-5 मीटर बताई जा रही है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

भारत के अंतिम गाँव में भी गुंजा ‘मोदी-मोदी’ नारा, पीएम ने कहा ‘ये अंतिम नहीं पहला गाँव है’

%d bloggers like this: