पीएम मोदी

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें वे कैमरे पर ढक्कन लगाकर वे चीते का फोटो ले रहे हैं। इसको लेकर उनका मजाक भी बनाया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने के चक्कर में टीएमसी के एक नेता ने खुद ही अपनी फजीहत करवा ली। खास बात ये है के खुद की फजीहत करवाने वाले नेता पहले आईएएस अधिकारी भी रह चुके हैं। नाम है जवाहर सरकार। जवाहर सरकार टीएमसी के राज्यसभा सांसद है। शनिवार 17 सितंबर को मध्य प्रदेश के कूनों नेशनल पार्क में जब जीते को छोड़ा गया तो बाद में पीएम मोदी ने उसकी फोटोग्राफी भी की।

इसी को लेकर टीएमसी सांसद ने झूठ फैलाया। उन्होंने पीएम मोदी की एक मॉर्फ्ड तस्वीर ट्विटर पर शेयर की, जिसमें देखा जा सकता है कि पीएम मोदी हाथ में कैमरा लेकर फोटो खींचने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि कैमरे की लेंस का ढक्कन बंद था। जबकि हकीकत में जब पीएम मोदी फोटो खींच रहे थे तो उन्होंने उसका कैप हटा रखा था।

पीएम मोदी का मजाक बनाने के चक्कर में टीएमसी सांसद ने इस वीडियो को शेयर किया, लेकिन नेटिजन्स ने उनकी खिंचाई शुरू कर दी। अपनी ही फजीहत होती देख उन्होंने तुरंत अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया। हालाँकि, उसकी स्क्रीनशॉट तेजी से वायरल हो रहा है। संत कबीर दास का वो दोहा आज पूरी तरह से चरितार्थ हो गया, जिसमें उन्होंने कहा था:

 

बिना बिचारे जो करे, सो पीछे पछताय।

काम बिगाड़े आपनो, जग में होत हसाय।।

 

इसी क्रम में जवाहर सरकार के झूठ की पोल खोलते हुए दूरदर्शन के एंकर अशोक श्रीवास्तव ने इस फोटो को शेयर किया। उन्होंने लिखा, “भारत के प्रधानमंत्री की ये दोनों तस्वीरें फेक हैं, मोदी को ट्रोल करने के लिए फोटोशॉप करके ट्वीट की गईं हैं। और ये फेक तस्वीर ट्वीट करने वाले वर्तमान में राज्यसभा के सांसद हैं जो पब्लिक ब्रॉडकास्टर प्रसार भारती के सीईओ और देश के पूर्व संस्कृति सचिव रह चुके हैं।” बहरहाल अब लोग इस स्क्रीनशॉट को पीएमओ और दिल्ली पुलिस को टैग कर टीएमसी सांसद जवाहर सरकार के खिलाफ कार्रवाई करने की माँग कर रहे हैं।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

पहले कबूतर छोड़ते थे, आज चीता छोड़ रहे हैं: देखें पीएम मोदी का शानदार वीडियो

%d bloggers like this: