केजरीवाल

दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने इस बार दिवाली को लेकर पटाखों पर बैन लगा दिया है, जिसके बाद जनता की उनके खिलाफ प्रतिक्रिया सामने आई है।

प्राप्त जानकारियों के मुताबिक देश की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार ने एक बार फिर से प्रदूषण का हवाला देते हुए प्रदेश में दीवाली से लेकर 1 एक जनवरी तक के लिए पटाखों की खरीद और बिक्री पर रोक लगा दिया है। हालाँकि, दिल्ली सरकार के इस फैसले के खिलाफ दिल्ली के लोगों की नाराजगी सामने आ गई है। दिल्ली भाजपा ने शेयर किया ये वीडियो:-

इस मामले में दिल्ली के लोगों का कहना है कि सबसे पहले तो सरकार को उन चीजों पर अपना ध्यान देना चाहिए, जिनसे असल में प्रदूषण फैलता है। यूजर ने दावा किया कि दिल्ली में अंधाधुन तरीके से निर्माण कार्य किए जार हैं। कहीं पर भी पानी कै छिड़काव नहीं हो रहा है। दिल्ली के ही कनाटप्लेस में करोड़ृों रुपए खर्च कर स्मॉग टॉवर बनाए गए हैं, लेकिन ये काम ही नहीं कर रहे हैं।

राज्य सरकार को यमुना के मैले होने पर भी बात करनी चाहिए। केजरीवाल केवल पटाखे को बैन करके अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं पाएगा। एक अन्य व्यक्ति ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केवल पटाखों को बैन करने मात्र से दिल्ली में प्रदूषण थमने वाला नहीं है। लोगों का कहना है कि केजरीवाल सरकार के फैसलों को लेकर एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि पंजाब में जो पराली जलाने के कारण उनको स्वास्थ्य सबंधी बीमारिया भी हो सकती हैं।

इसके साथ ही लोगों ने लगातार सामने आ रहे आम आदमी पार्टी के घोटालों को लेकर भी केजरीवाल सरकार की खिंचाई की। एक अन्य यूजर ने केजरीवाल सरकार के फैसलों को लेकर कहा कि उन्हें दिल्ली सरकार का एक भी फैसला नहीं मंजूर है। गौरतलब है कि पिछले साल भी दिल्ली में प्रदूषण का हवाला देते हुए दिल्ली की अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में पटाखों पर बैन लगा दिया था। मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भी आक्रामक रूख अपनाया था। हालाँकि, ये बैन केवल एक दिखावा बन गया था।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

दिल्ली के ऑटोवालों ने खोली भ्रष्टाचारी केजरीवाल की पोल: देखें वीडियो

%d bloggers like this: