राहुल गांधी

दिल्ली कैंट की 9 वर्षीय रैप पीड़िता के परिजनों की तस्वीर साझा करने पर राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया, लेकिन इसके पीछे का सच कुछ ओर ही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कोंग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी का अधिकारिक ट्विटर अकाउंट सस्पेंड हो चूका था, मगर बाद में ये वापस बहाल भी हो चूका था. लेकिन अब खबर आ रही है की यह अकाउंट अस्थायी तौर पर लॉक किया गया है. गौरतलब है की इस सारी घटना के दौरान माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर की ओर से भी एक अधिकारिक जानकारी साझा की गई, जिसमें ट्विटर ने बताया की उन्होंने इस अकाउंट को सस्पेंड किया ही नहीं था.

राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट के सस्पेंड होने बात सामने आते ही कोंग्रेस पार्टी में काफ़ी आक्रोश देखने को मिला. कोंग्रेस पार्टी के अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्विट कर लिखा गया की ‘जब तक अकाउंट रिकवर नहीं हो जाता, तब तक राहुल गांधी अन्य सोशल मीडिया माध्यमों के जरिए लोगों से जुड़े रहेंगे’. इससे पहले कोंग्रेस द्वारा यह दावा किया गया था की ‘राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट अस्थायी तौर पर सस्पेंड हो गया है, अकाउंट को रिकवर करने के लिए प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है’.

बता दें की राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट के सस्पेंड होने की असली वजह की तो अभी तक स्पस्ट नहीं हो पाई है, लेकिन कुछ संस्थाओं के हवाले से ये माना जा रहा है की उनके इस अकाउंट के सस्पेंड होने की वजह राहुल गांधी की एक ऐसी पोस्ट हैं, जिसमें उन्होंने 9 साल की रैप पीड़िता के परिजनों की पहचान को सोशल मीडिया पर उजागर कर दिया था. बता दें की भारतीय कानून में रेप पीड़िता के परिवार की जानकारी सार्वजनिक नहीं की जा सकती है, यदि कोई ऐसा करता है तो इसे पोस्को कानून का उलंघन माना जाएगा.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

राहुल गाँधी ने दी बीजेपी और आरएसएस को धमकी, कहा कुचल कर टुकड़े टुकड़े कर देंगे

Leave a Reply

%d bloggers like this: