बलात्कार

वर्ष 2020 में भारत में राज्यों की दृष्टि से सबसे ज्यादा बलात्कार राजस्थान में हुए हैं, NCRB की रिपोर्ट में राज्य में कुल 5 हजार 310 मामले आए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो यानि की NCRB ने इस साल सितंबर में पिछले वर्ष 2020 में हुए वार्षिक बलात्कार के मामलों की सूचि जारी कर दी है. 28 राज्यों की इस सूचि में जहां नागालेंड में सबसे कम केवल 4 रेप के मामले सामने आए तो वहीं क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़े राज्य राजस्थान में यह आंकड़ा 5 हजार के भी पार पहुंच गया, इसी के साथ यह इस लिस्ट में कोंग्रेस शासित राजस्थान पहले स्थान पर रहा.

बलात्कार
महिलाओं के विरुद्ध हुए अपराधों में राजस्थान सबसे आगे :साभार opindia

राजस्थान में इस समय कोंग्रेस की सरकार है और उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की योगी सरकार है. गौरतलब है की कोंग्रेस ने वरिष्ठ नेता शुरू से ही यूपी प्रशासन और सरकार को निशाना बनाते रहे हैं लेकिन कभी खुद के गिरेबान में नहीं देखा, ये नहीं देखा की उनकी सत्ता जिस राज्य में है उसमें भी अपराध बढ़ रहे हैं और पुलिस कुछ नहीं कर पा रही. उत्तर प्रदेश की बात होएगी तो सवाल खड़े करेंगें और जब बात राजस्थान की आएगी तो मौन हो जाएंगें.

बता दें की NCRB की रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में राजस्थान में कुल 5 हजार 310 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए और उत्तर प्रदेश में पिछले रिकॉर्ड से घटकर 2 हजार 769 केस ही सामने आए. वहीं अन्य राज्यों की बात करें तो मध्य प्रदेश में 2339, महाराष्ट्र में 2061, असम में 1657, हरियाणा में 1373, झारखंड में 1321, ओड़िसा में 1211, छत्तीसगढ़ में 1210, पश्चिम बंगाल में 1128, आंध्रप्रदेश में 1095, बिहार में 806, तेलंगाना में 764, केरल में 637, कर्नाटक में 504, पंजाब में 502, उत्तराखंड में 487, गुजरात में 486, तमिलनाडू में 389, हिमाचल प्रदेश में 331, त्रिपुरा में 79, मेघालय 67, गोवा और अरुणाचल प्रदेश में 60, मिजोरम में 33, मणिपुर में 32, सिक्किम में 12 और सबसे कम नागालेंड में मात्र 4 बलात्कार के मामले सामने आए.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

राजस्थान गैंगरेप मामला: पीड़िता ने बताई रूह कंपा देने वाली सच्चाई, भाजपा ने सरकार को घेरा

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *