कृषि सुधारो कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन से लगातार जुड़े हुए कुछ कार्यकर्ताओं पर बलात्कार के कई केस दर्ज होने का मामला सामने आए है. देश भर में लागु हुए नय कृषि कानूनों के विरोध में पिछले लंबे समय से किसान दिल्ली के कुछ बोर्डर पर धरना दे के बैठे हुए हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हाल में इसी किसान आंदोलन से लगातार जुड़े हुए कई कार्यकर्ताओं पर बलात्कार के केस दर्ज होने का मामला सामने आया है, इस सूचि में वरुण चौहान (ट्रॉली टाइम्स का सदस्य), अंतरप्रीत सिंह (स्टूडेंट फॉर सोसायटी का नेता) और स्वराज फॉर यूथ का अध्यक्ष मनीष कुमार के भी नाम दर्ज किए गए हैं.

बलात्कार

वरुण चौहान पर बलात्कार का मामला दर्ज

किसान संगठन ट्रॉली टाइम्स के एक सदस्य वरुण चौहान पर बलात्कार का मामला दर्ज हुआ है, बता दें की अब तक वरुण पर 5 यौन उत्पीड़न के मामले सामने आए हैं. 5 मामले की पीड़िता ने कहा की “मैं वरुण चौहान से 2019 में इंस्टाग्राम के माध्यम से मिली थी तब मैं केवल 19 वर्ष की थी, वरुण ने मुझसे 2 – 3 लाख रुपए ऐंठे जो उसने अभी तक नहीं लौटाए”.

पीड़िता ने कहा की “वरुण ने उस पर ‘थ्रीसम’ में शामिल होने का दबाव बनाया और कहा कि ‘थ्रीसम’ में शामिल होना सामान्य है और अपनी ‘सेक्सुएलिटी’ को एक्सप्लोर करने से संबंधित है”. उसने आगे कहा की “वरुण ने अपने इंस्टाग्राम का उपयोग करके बिना उसकी जानकारी के आपत्तिजनक तस्वीरों को उन लोगों को भेजा जिन्हें वह समझता था कि वो थ्रीसम में रुचि लेंगे”.

स्वराज इंडिया के अध्यक्ष मनीष कुमार पर भी आरोप

वरुण चौहान के जैसे ही आरोप योगेंद्र यादव के स्वराज इंडिया के अध्यक्ष मनीष कुमार पर ऐसे ही आरोप लगे हुए हैं, पीड़िता ने ट्विट कर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा की “अगर एक निष्पक्ष जाँच की गई है, तो यह उनकी जिम्मेदारी है कि वे पारदर्शी बयान के साथ सामने आएँ और उत्पीड़न करने वाले पर अपना पक्ष रखें”.

इसे भी जरुर पढिए:-

मोदी ने कहा “दीदी ने मुस्लिम बेहन बेटियों के साथ बुरा किया”

One thought on “किसान आंदोलन से लगातार जुड़े हुए कार्यकर्ताओं पर बलात्कार के केस दर्ज”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: