शाहरुख खान

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान का परमहंसाचार्य ने तेरहवीं संस्कार किया और बताया कि ये जिहादी अलकायिदा को पैसे भेज कर फंडिंग करता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तपस्वी छावनी पीठाधीश्वर जगद्गुरु परमहंसाचार्य ने अपने कुछ बाल संतो के साथ सड़क पर मटकी को फोड़ा। बाकायदा वैदिक मंत्रोच्चार से अभिनेता शाहरुख का तेरहवीं संस्कार किया। परमहंसाचार्य ने कहा कि 13 दिन पहले उन्होंने शाहरुख खान का पोस्टर जलाया था। 13 दिन के बाद तेरहवीं होता है। इसलिए आज तेरहवीं संस्कार कर रहा हूँ। देखिए इस तेरहवीं संस्कार का पूरा वीडियो:-

उन्होंने आगे कहा कि पठान फिल्म में दर्शाए गए दृश्य को लेकर किया गया है। तपस्वी छावनी पीठाधीश्वर जगद्गुरु परमहंसाचार्य (Tapasvi Chhawni Peethadhishwar Jagadguru Paramhansacharya) ने कहा कि शाहरुख खान की फिल्म पठान में भगवा रंग का अपमान किया गया है। इससे संत समाज में नाराजगी है। उन्होंने बताया कि शाहरुख खान अलकायिदा की फंडिंग करता है। उनका नाम अमेरिका की खुफिया लिस्ट में दर्ज है।

आपको बताते चलें कि इससे पहले परमहंस आचार्य ने बुधवार (21 दिसंबर, 2022) को मीडिया कर्मियों के सामने कहा कि शाहरुख खान अपने पैगंबर मुहम्मद पर तो कोई फिल्म क्यों नहीं बनाता है। इसके साथ-साथ उन्होंने कहा कि अगर शाहरुख खान उन्हें कहीं मिल गया, तो वह उसे उधर ही जिंदा जला देंगे। महंत ने दर्शकों से भी यह विनती की कि वे सनातन धर्म का अपमान करने वाले अभिनेताओं की फिल्म को किसी भी थिएटर में ना रिलीज होने दें।

इस दौरान उन्होंने कहा था, “मैं अपील करता हूँ कि इस तरह की जो भी फिल्में और वेब सीरीज बन रही हैं, उनका पूर्ण रूप से बहिष्कार होना चाहिए। मैं कहता हूँ कि शाहरुख खान तो इस्लाम से आता है, वह अपने मुहम्मद साहब पर कोई टिप्पणी करके बता दे। पैगंबर मुहम्मद पर कोई फिल्म या फिर वेब सीरीज बनाकर दिखा दे। किसी में दम नहीं है, केवल सनातन धर्म का अपमान करके ये पैसा कमाते हैं।”

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

पैगंबर मुहम्मद पर फिल्म बनाने का दम नहीं, सनातन का अपमान कर

कमाते हैं पैसे: देखें वीडियो

%d bloggers like this: