ज्ञानवापी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी के काशी विश्वनाथ परिसर के एक छोर ज्ञानवापी में इस समय सर्वे चल रहा है और हाल ही में वहां बड़ा सा शिवलिंग मिला है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ज्ञानवापी मस्जिद विवाद मामले में सर्वे का काम सोमवार को तीसरे दिन भी जारी है। इस बीच परिसर से बाहर निकले सर्वे टीम में शामिल वादी पक्ष के पैरोकार सोहनलाल आर्य ने मीडिया से कहा कि सर्वे में बाबा मिल गए। उन्होंने दावा किया कि गुंबद, दीवार और फर्श के सर्वे के दौरान कई साक्ष्य दबे हुए से दिखे। आर्य ने आगे कहा कि ज्ञानवापी परिसर के भीतर तलाब में शिवलिंग भी मिला। आप भी देखिए वीडियो:-

आपको बताते चलें की कितना बड़ा शिवलिंग है इस बात का खुलासा उन्होंने नहीं किया है. चौपाई के माध्यम से सोहन लाल ने बड़ा दावा करते हुए कहा कि जिन खोजा तिन पाइया ….. “बाबा मिल गए” वहीं हिंदू पक्ष की ओर से दावा किया गया है की पानी हटते ही विशाल शिवलिंग सामने प्रकट हुआ। दावा है कि नंदी की मूर्ति के ठीक सामने मिले शिवलिंग का व्यास 12 फीट 8 इंच है, इसकी गहराई भी काफी है।

वहीं इस बाबत अधिवक्ता हरिशंकर जैन की ओर से प्रस्तुत कार्रवाई की रिपोर्ट को प्रार्थना पत्र के साथ सोमवार को प्रस्‍तुत किया गया। प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि दिनांक 16 मई को शिवलिंग मस्जिद कांप्‍लेक्स के अंदर एडवोकेट कमिश्‍नर की कमीशन कार्यवाही के दौराना पाया गया है। यह बहुत ही महत्वपूर्ण साक्ष्य है इसलिए सीआरपीएफ कमांडेंट को आदेशित किया जाए कि वह इसे सील कर दें।

गौरतलब है की पत्र में कहा गया है – मेरे द्वारा संपूर्ण पत्रावली का परिसीमन किया गया है। वादी गण द्वारा प्रस्तुत कर कहा गया कि आज दिनांक 16 मई को शिवलिंग मस्जिद कांप्‍लेक्स के अंदर दौरान कमीशन पाया गया यह बहुत ही महत्वपूर्ण साक्ष्‍य है। इसलिए सीआरपीएफ कमांडेंट को आदेशित किया जाए कि वह इसे सील कर दे। शिवलिंग को उसे संरक्षित किया जाना अति आवश्यक है, न्याय हित में प्रार्थना पत्र स्वीकार किए जाने योग्य है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर हो रहा है सर्वे, बाहर लगे ‘नारा-ए-तकबीर’ के नारे: देखें वीडियो

%d bloggers like this: