प्रशासक समिति

सोशल मीडिया पर कार्यरत सबसे बड़े संगठन प्रशासक समिति (Prashask Samiti) ने Twitter पर ट्रेंड कर मनाई रजिस्ट्रेन की पहली वर्षगांठ, वो भी हिंदी तिथि से। (कार्तिक कृष्ण पक्ष ५)

प्राप्त जानकारियों के मुताबिक लोगों ने ट्वीट में अपनी फोटो के साथ प्रशासक समिति (Prashask Samiti) से जुड़ने की खुशी भी व्यक्त की। इस ट्रेंड को करने के पीछे समिति का उद्देश्य पहली वर्षगांठ को सेलिब्रेट करने के साथ साथ समिति की जानकारी सनातनियों तक पहूँचाकर् उन्हें समिति से जुड़ने हेतु आमंत्रित करना था। बताते चलें कि ट्रेंड 55K+ ट्वीट्स के साथ टॉप 4 तक गया जिसकी reach 1 करोड़ 50 लाख के आस पास रही।

आपको बताते चलें कि इस ट्रेंड को करने के पीछे समिति का उद्देश्य पहली वर्षगांठ को सेलिब्रेट करने के साथ साथ समिति की जानकारी सनातनियों तक पहूँचाकर् उन्हें समिति से जुड़ने हेतु आमंत्रित करना था, समिति की जानकारी लोगों तक पहूंचाकर लोगोँ को जोड़ना इसलिए जरूरी है की हम अधिक से अधिक लोगों में धर्म और राष्ट्रहित की भावना जाग्रुत् कर सकें, लोगों तक सत्य पहूँचा सकें, समाज में व्याप्त संस्याओं से लोगों को अवगत करा सकें और उन संस्याओं से कैसे छुटकारा मिले उसका भी हर संभव मार्गदर्शन कर सकें।

Jab tak समाज जागरूक नहीं होगा, जब तक समाज को संस्याओं की जानकारी नहीं होगी तब तक समाज संस्याओं से सावधान नहीं हो सकता और ना ही संस्याओं से छुटकारा पा सकता है। (नोट: समिति के विचार समाज और सम्पूर्ण भारतीयों के लिए हैं। समिति का उद्देश्य किसी भी धर्म, मजहब को टारगेट करना बिल्कुल भी नहीं है।)

समाज में व्याप्त संस्याओं से लड़ना है तो सबको एकजुट होना होगा और वही समिति का उद्देश्य है और इसीलिए ट्रेंड के माध्यम से समिति ने ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहूंचने की सफल कोशिश की। बता दें कि समिति के तमाम कार्यकर्ता और सदस्य किसी भी प्रकार कि जातिवाद पर विश्वास नहीं रखते हैं। सभी को यहाँ समान रूप से सम्मान दिया जाता है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

वक्फ बोर्ड के विरोध में प्रशासक समिति ने चलाया अभियान, करोड़ों लोगों तक पहुंचाई आवाज

%d bloggers like this: