शफीकुर्रहमान बर्क

देश के कई राज्यों में एक तरफ जहां कट्टरपंथी संगठन PFI के ठिकानों पर रेड पड़ रही है, वहीं दूसरी तरफ सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क संगठन के सपोर्ट में आ खड़ा हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने देश में दंगे करवाने, भारत तोड़ने की साजिश रचने और आतंकी घटनाओं के मामले में शामिल कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) का समर्थन किया है। सपा सांसद का ये समर्थन एनआईए और एटीएस की पीएफआई के खिलाफ एक्शन के बाद आया है। बर्क का मानना है कि अगर पीएफआई मुस्लिमों हितों की रक्षा के लिए लड़ रहा है तो इसमें बुरा क्या है।

दरअसल, गुरुवार (22 सितंबर 2022) को NIA और ATS कट्टरपंथी इस्लामी संगठन PFI के कई ठिकानों पर छापेमारी की और संगठन के कुछ पदाधिकारियों को भी गिरफ्तार किया था। इसी के बाद सपा सांसद का ये बयान आया। बर्क मीडिया के सामने आकर कहते है  कि पीएफआई देश की दूसरे ऑर्गनाइजेशन की ही तरह है और हर संस्था की तरह ही ये भी अपने कार्यक्रमों को चला रहा है तो क्या जुर्म किया?

सपा सांसद का दावा है कि पीएफआई केवल देश में मुस्लिमों के लिए लड़ रहा है। उल्लेखनीय है कि अपनी छापेमारी के दौरान राष्ट्रीय जाँच एजेंसी की टीम ने जिस व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, उसकी गिरफ्तारी पर बर्क का रोना तो तय था। आतंकी साजिश के मामले में जाँच एजेंसी ने पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमएस सलाम समेत संगठन के दिल्ली अध्यक्ष परवेज अहमद को गिरफ्तार किया है।

पीएफआई पर कसता जा रहा शिकंजा

गौरतलब है कि गुरुवार को एनआईए ने देश के 15 राज्यों में कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन के खिलाफ ताबड़तोड़ छापेमारी की। इस दौरान 93 जगहों पर रेड की गई। इसमें से केरल में 39, तमिलनाडु में 16, कर्नाटक में 12, आंध्र प्रदेश में 7, तेलंगाना में 1,  उत्तर प्रदेश में 2, राजस्थान में 4, दिल्ली में 2, असम में 1, मध्य प्रदेश में 1, महाराष्ट्र में 4, गोवा में 1, पश्चिम बंगाल में 1, बिहार में 1 और मणिपुर में 1 स्थान पर रेड मारे जाने की खबर है। इन सभी राज्यों से अब तक 106 पीएफआई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जा चुका है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

ज्ञानवापी केस में PFI की हुई एंट्री, बोला ‘सदियों पुरानी मस्जिद की करेंगे रक्षा’

%d bloggers like this: