सिक्खों

किसान आंदोलन के विरोध के बिच सिंक्खों के एक संगठन ‘शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति’ ने RSS पर प्रतिबंध लगाने को लेकर प्रस्ताव पारित किया है.

कृषि कानूनों के विरोध के बिच एक नई खबर निकलकर सामने आई हैं, दरअसल ‘शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति’ नामक एक सिक्ख संस्था ने एक विवादित प्रस्ताव जारी कर दिया है. बता दें की अमृतसर में स्थित हरिमंदिर साहिब के संचालन का कार्य भी यही संस्था करती है.

सिक्खों

‘शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति’ भारत में मौजूद संस्था है जो गुरुद्वारों के रख-रखाव के लिये उत्तरदायी है, इसका अधिकार क्षेत्र तीन राज्यों पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश तक है, केंद्र शासित क्षेत्र चंडीगढ़ भी इसमें सम्मिलित है और यह कमेटी गुरुद्वारों की सुरक्षा, वित्तीय, सुविधा रख-रखाव और धार्मिक पहलुओं का प्रबंधन करता है, साथ ही सिख गुरुओं के हथियार, कपड़े, किताबें और लेखन सहित पुरातात्विक रूप से दुर्लभ और पवित्र कलाकृतियों को सुरक्षित रखती है.

सिक्खों के इस संगठन ने जारी किया प्रस्ताव

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पंजाब के अमृतसर की संस्था ‘शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति’ ने हाल ही में एक प्रस्ताव पास किया है, बता दें की इस प्रस्ताव में उन्होंने मुख्यतः यह लिखा की “राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर भारत को ‘हिन्दू राष्ट्र’ बनाने की कोशिश कर रहा है और अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने तो संघ पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग कई बार की हैं”.

इसे स्पष्ट करते हुए प्रस्ताव में लिखा गया की “भारत एक बहुधर्मी, बहुभाषी और बहुसांस्कृतिक देश है. प्रत्येक धर्म का स्वतंत्रता में योगदान है और विशेषकर सिखों का. किन्तु कुछ समय से आरएसएस के ‘हिन्दू राष्ट्र’ की योजना के कारण अल्पसंख्यकों की स्वतंत्रता का हनन हो रहा है. सरकार से यह माँग यह मांग करते हैं कि वह अल्पसंख्यकों के हितों को सुरक्षित करे”.

सिक्खों के संगठन ने सरकार से बड़ी मांग की

‘शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति’ के प्रस्ताव में भारत सरकार से यह मांग की गई है की वे 26 जनवरी के दिन की गई हिंसा के अपराधियों को जल्दी से जल्दी रिहा करें और कृषि कानून वापस लें.

इसे भी पढ़ें:-

केरल रैली के दौरान PM मोदी विरोधियों पर जमकर बरसे, उमड़ा जनसेलाब

One thought on “सिक्खों के एक संगठन ने RSS संघ पर प्रतिबंध की करी मांग”

Leave a Reply

%d bloggers like this: