Tag: शिवालय

भूतेश्वर महादेव मंदिर: रातोंरात भूतों ने बनाया शिवालय

खेड़ा देवीदास गांव में स्थापित भूतेश्वर महादेव मंदिर का निर्माण भूतों ने एक रात में ही कर दिया था, रहस्यों से भरे इस मंदिर के शिवलिंग को बांहों में भरना…

कैलाशनाथ मंदिर: ‘कांची का महान रत्न’ के नाम से भी प्रसिद्ध

कांचीपुरम में स्थित कैलाशनाथ मंदिर अपनी भव्यता के कारण ‘कांची का महान रत्न’ भी कहलाने लगा, यह मंदिर भगवान शिव को ही समर्पित हैं. सनातन धर्म को मानने वालों के…

होयसलेश्वर मंदिर: अद्भुत नक्काशी मशीनों द्वारा निर्मित लगती है

हासन जिले के हलेबिड नामक स्थान पर स्थित है महादेव को समर्पित होयसलेश्वर मंदिर, मंदिर की संरचना इतनी अद्भुत है मानो मशीन द्वारा बना हो. भारत में अनेकों मंदिर अपने…

श्री यागंती उमा महेश्वर मंदिर: सदा ही बढ़ता रहता है परिसर के नंदी का आकार

कुरनूल जिले में स्थित है श्री यागंती उमा महेश्वर मंदिर भगवान शिव के अर्धनारीश्वर स्वरूप को समर्पित एक प्राचीन मंदिर हैं, जिसमें एक रहस्य भी छिपा है. भारत में भगवान…

जटोली शिव मंदिर: 122 फीट ऊंचा और पत्थरों से निकलती है डमरू की आवाज

सोलन में स्थित यह जटोली शिव मंदिर बहुत प्राचीन शिवालय हैं, मंदिर 122 फीट ऊंचा है और सबसे अद्भुत परिसर के पत्थरों से निकलने वाली डमरू की आवाज है. देश…

निष्कलंक महादेव मंदिर: 5 स्वयंभू वाले इस शिवालय में पांडव हुए थे पाप मुक्त

महाभारत के महान इतिहास की गवाही देने वाला निष्कलंक महादेव मंदिर गुजरात के अरब तट पर स्थित हैं, सालों पूर्व पांडवों ने यहीं अपने पाप धोए थे. भारत में अब…

कैलाश मंदिर: आधुनिक इंजीनियर्स भी वास्तुकला देख हैरान

एलोरा की गुफाओं में बना ये अद्भुत और भव्य कैलाश मंदिर भगवान शिव को समर्पित हैं, आधुनिक इंजीनियर्स भी इसकी वास्तुकला देख हैरान हो जाते हैं. भारत देश में ऐसे…

मंगलनाथ मंदिर: दुनिया भर के लोग कुंडली से मंगल दोष का यहां करवाते हैं निवारण

महाकाल की नगरी उज्जैन में स्थित मंगलनाथ मंदिर में देश के अलावा विदेश से भी लोग अपनी कुंडली से मंगल दोष का निवारण करवाने आते हैं. भगवान शिव की नगरी…

स्तंभेश्वर महादेव मंदिर: भक्तों को दर्शन देने के बाद समुद्र में समा जाता है शिवालय

भगवान शिव को समर्पित स्तंभेश्वर महादेव मंदिर ऐसा दुर्लभ मंदिर है जो दिन में दो बार अपने भक्तों को दर्शन देने के बाद समुद्र की गोद में समा जाता है.…

ऐरावतेश्वर मंदिर की सीढ़ियों पर पैर रखने से उत्पन्न होती है रहस्यमय ध्वनी

महादेव शिव को समर्पित ऐरावतेश्वर मंदिर की प्रसिद्धि का सबसे बड़ा कारण मंदिर परिसर की सीढ़ियों पर पैर रखने से उत्पन्न रहस्यमय ध्वनी हैं. तमिलनाडू के कुंभकोणम के पास दारासुरम…