तालिबान

काबुल के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की ओर जाने वाले सारे रास्तों को तालिबान ने बंद कर दिया है, अब वहां के लोगों का देश से निकलना लगभग नामुमकिन हो गया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के इंटरनेशनल एयरपोर्ट की तरफ़ जा रहे सभी मार्गों पर अपनी निगरानी बढ़ा दी हैं और अफगानियों को एयरपोर्ट जाने से रोका भी जा रहा है. बता दें की पिछले एक हफ्ते से तालिबान का काबुल के साथ – साथ पुरे अफगानिस्तान पर कब्जा होने बाद लोग अपनी जान बचाने के लिए देश छोड़कर भागना चाहते हैं. अब तालिबानियों ने उनकी इस इच्छा को पूरी तरह से खत्म करने का मन बना लिया है.

गौरतलब है की तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने मीडिया के सामने माना की “एयरपोर्ट तक जाने वाली सभी सड़कें ब्लॉक कर दी हैं. अफगान नागरिक अब एयरपोर्ट तक नहीं जा पाएँगे. सिर्फ विदेशी नागरिकों को ही उस सड़क से एयरपोर्ट तक जाने की इजाजत होगी”. इसी बिच संयुक्त राष्ट्र यानि की यूएन ने भी यह डर जताया है की बच्चों और महिलाओं पर इस कदर अत्याचार करके तालिबानी मानवाधिकार का उल्लंघन कर रहे हैं, इसके अलावा यूएन ने ओर हैरान करने वाली बातें भी मीडिया के सामने रखी हैं.

यूएन के मुताबिक तालिबान पहले से ही अफगानिस्तान में मानवाधिकारों का उल्लघंन कर रहा है. निर्दोष नागरिकों की हत्या कर रहा है. बच्चों को आतंकी संगठन में भर्ती कर रहा है. इसके अलावा उनके द्वारा महिलाओं और मासूम बच्चियों पर जुल्म किए जा रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार मामलों की प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने कहा की “तालिबान द्वारा महिलाओं व लड़कियों के साथ बुरा बर्ताव किया जा रहा, उनकी आज़ादी, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, शिक्षा और रोजगार संबंधी अधिकारों का हनन किया जा रहा है. इनका अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार मानकों के अनुरूप पालन करना होगा”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

लाशों के साथ भी तालिबानी सेक्स करते हैं, नया खुलासा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: