तीरथ सिंह

हरिद्वार में कुम्भ की मरकज से तुलना करने वालों को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह का करारा जवाब, उन्होंने कहा की “कुम्भ की तुलना मरकज से नहीं की जा सकती”.

उत्तराखंड के हरिद्वार कुंभ में कल दूसरे शाही स्नान के मौके पर भक्त गंगा में डुबकी लगाई, सोमवती अमावस्या के मौके पर भक्तों ने हरिद्वार में डुबकी लगाई. इस बिच कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन ने कई तरह की पाबंदियां लगाई हैं और कोरोना को लेकर हरिद्वार में प्रशासन ने खास इंतजाम किए हैं, सभी अखाड़ों को स्नान के लिए आधे-आधे घंटे का वक्त दिया गया है.

तीरथ सिंह

तीरथ सिंह रावत का बड़ा बयान

कोरोना के बिच कुम्भ में स्थान की अनुमति को लेकर वामपंथी उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत को घेरने लगे, वे लोग मिथ्या अफवाह फ़ैलाने लगे और कुम्भ की तुलना पिछले वर्ष के चर्चित दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से करने लगे. बाद में इनका जवाब देते हुए तीरथ सिंह रावत के कहा की “कुंभ की तुलना मरकज से नहीं की जा सकती है”.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक प्रेस कोंफ्रेंस का आवाहन कर उन्होंने कहा की “मरकज एक होल में होता है, लेकिन कुंभ के 16 घाट हैं, यह हरिद्वार से लेकर नीलकंठ तक विस्तृत है, बावजूद इसके लोग एक सही जगह पर स्नान कर रहे हैं और इसके लिए समयसीमा निर्धारित है”.

बता दें की कुम्भ मेले को लेकर तीरथ सरकार ने सख्त नियमों का प्रावधान लागु किया है. इसके अंतर्गत मेले में आने से पहले लोगों के पास कोरोना के आरटी पीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट होनी चाहिए, जो कि 72 घंटे से अधिक पुरानी न हो. इसके अलावा केंद्र सरकार के कोरोना के दिशा निर्देशों का पालन भी अनुवार्य है.

मरकज से फैला था कोरोना संक्रमण

पिछले वर्ष जब देश में कोरोना के शुरूआती मरीज ही मिल रहे थे और केंद्र सरकार ने निर्देश जारी किए की कोरोना के कारण आपस में दुरी बनाए रखें, इसके बावजूद भी दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात का आयोजन किया गया और उसी के कारण अचानक से कोरोना बिस्फोट हुआ और स्थितियों पर मुश्किल से नियंत्रण पाया गया.

निज़ामुद्दीन मरकज

इसे भी जरुर पढिए:-

उत्तराखंड के 51 हिंदू मंदिरों से मुख्यमंत्री ने हटाए सरकारी नियंत्रण, ये नाम शामिल

तीरथ सिंह रावत ने ली मुख्यमंत्री पद की शपत,सफ़लता का कारण RSS

By Sachin

2 thoughts on “तीरथ सिंह ने कहा “कुम्भ की तुलना मरकज से नहीं की जा सकती””

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *