कोरोना

देश भर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को गम्भीरता से लेते हुए मंदिरों ने इससे लड़ने की ठान ली है लेकिन दूसरी तरफ़ मस्जिद में नमाज को लेकर हाई कोर्ट में याचिका दायर की जा रही है.

भारत में कोविड 19 कहर लगातार जारी है. अब तक देश में कुल मामलों की गिनती करें तो ये संख्या 1 करोड़ 45 लाख 26 हजार 609 तक पहुंच जाती है, इनमें से 1 लाख 75 हजार 649 लोगों की इस महामारी से मृत्यु हुई है. यदि बीते 14 दिनों में नय मामलों की बात करें तो देश में कोविड से संक्रमितों की संख्या में भारी बढ़ोतरी के साथ 21 लाख 34 हजार से भी अधिक मामले दर्ज किए गए हैं.

कोरोना

कोरोना से लड़ने के मंदिर आए आगे

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस कठिन घड़ी में भी मंदिरों ने देश का साथ नहीं छोड़ा, उनका मानना है की मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं होता है. इसी का एक दुर्लभ उदाहरण पेश करते हुए मुंबई के जैन समुदाय ने मंदिर को कोविड -19 सेंटर में परिवर्तित कर दिया है. इस कोविड सेंटर में 100 बिस्तरों वाले पैथोलॉजी लैब के साथ सामान्य और डिलक्स वार्ड शामिल हैं.

कोरोना वायरस के कारण जूना अखाड़ा ने भी कि कुंभ के समापन की घोषणा

इसके अलावा भी ओर भी कई मंदिरों ने महामारी ने समय अपना हाथ इससे लड़ने के लिए आगे बढ़ाए हैं. बता दें की मुंबई के श्री स्वामी नारायण मंदिर ने परिसर को कोविड अस्पताल में बदल दिया है, मंदिर प्रमुख ने कहा है कि उपचार लागत का ध्यान मंदिर समिति द्वारा रखा जाएगा. बता दें की महाराष्ट्र के सबसे बड़े धार्मिक केंद्रों में से एक संत गजानन मंदिर ने भी सेवा के लिए हाथ बढ़ाया है.

कोरोना काल में मस्जिद में नमाज को लेकर हाई कोर्ट में याचिका

मुंबई हाईकोर्ट में इस कोरोना महामारी के दौर में भी एक याचिका दायर की गई है, इस याचिका में मस्जिद को खोलने और नमाज पढ़ने के लिए अनुमति देने को लेकर की गई हैं. कोर्ट ने याचिका की सुनवाई में नमाज से अधिक लोगों की सुरक्षा है और नमाज की अनुमति नहीं दी गई.

इसे भी जरुर पढिए:-

टीएमसी नेता सुजाता खान का बेहूदा बयान, कहा अनुसूचित जाति वाले भिखारी

By Sachin

3 thoughts on “कोरोना महामारी से लड़ने के लिए मंदिर आए आगे, मस्जिद में नमाज की जिद”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *