खालिस्तान

सिख फॉर जस्टिस के आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्‍नू ने कहा, “हम हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला को खालिस्‍तान (Khalistan) देश की राजधानी बनाएँगे।”

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आए दिन भारत को तोड़ने की साजिशें रचने वाले आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस खालिस्तान को लेकर ब्रिटेन के बाद अब कानाडा में भी जनमत संग्रह कराया है। आतंकी संगठन के मुखिया गुरुपतवंत सिंह पन्नू वे इसी तरह से अगले साल 26 जनवरी को भारत में भी जनमत संग्रह कराने का एलान किया है।

यहीं नहीं आतंकी पन्नू ने हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला को अलग काल्पनिक देश खालिस्तान की राजधानी बनाने का एलान किया है। पन्नू इंडिया का मोस्ट वॉटेड टेररिस्ट है, उसे भारत विरोधी कार्यों में लिप्त पाए जाने के बाद साल 2019 में ही भारत सरकार ने एसएफजे पर बैन लगा दिया था। लेकिन ‘दुश्मन का दुश्मन दोस्त होता है’ वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से एसएफजे अलग खालिस्तान बनाने की कोशिशों में लगा हुआ है।

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, कनाडा में करीब 10 लाख से अधिक सिखों का घर है। इनमें से अधिकतर पंजाब (भारत) के रहने वाले हैं, लेकिन वे सभी कट्टर खालिस्तान समर्थक हैं। खालिस्तानी आतंकी संगठन एसएफजे से जुड़े कनाडाई आतंकियोंने साल 1985 में एयर इंडिया फ्लाइट 182 पर बमबारी की थी, जो अटलांटिक महासागर के ऊपर 31,000 फीट (9,400 मीटर) की ऊँचाई पर मॉन्ट्रियल से लंदन के बीच हवा में किया गया विस्‍फोट था। इसमें सभी 329 यात्री मारे गए थे।

यहीं नहीं भारत में हुए किसान आंदोलन में भी खालिस्तानियों की साजिश का खुलासा हुआ था। इसके अलावा जब कर्नाटक में हिजाब विवाद चला था तो उस दौरान भी इस्लामिक कट्टरपंथियों से देश में अलग इस्लामिक राष्ट्र बनाने के लिए जनमत संग्रह करने का आह्वान किया था। सिख फॉर जस्टिस चीफ गुरुपतवंत सिंह पन्नू ने इस्लामवादियों को भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए उकसाया था। उसने कहा था कि अगर मुस्लिम अपने अधिकारों के लिए युद्ध छेड़ते हैं तो वो भी काम नहीं करेगा।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

स्वामीनारायण मंदिर में खालिस्तानियों ने की तोड़-फोड़, लिखा ‘खालिस्तान

जिंदाबाद, हिंदुस्तान मुर्दाबाद’ देखें वीडियो

%d bloggers like this: