ब्यूटी कॉन्टेस्ट

पंजाब के बठिंडा में अजीबोगरीब पोस्टर लगे देख लोग हैरान हो गए हैं, पोस्टर में दावा किया गया है कि ब्यूटी कॉन्टेस्ट जीतने वाली लड़की को कनाडा वाला NRI दूल्हा मिलेगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पंजाब के बठिंडा में हो रही “ब्यूटी कॉन्टेस्ट” की एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है। इस ब्यूटी प्रतियोगिता के विज्ञापन में यह लिखा है की जो भी महिला इस ब्यूटी कॉन्टेस्ट को जीतेगी उसकी शादी कनाडा में रहने वाले लड़के से कराई जाएगी। अर्थात ब्यूटी कॉन्टेस्ट जितने वाली महिला को एनआरआई (NRI) दूल्हा मिलेगा। देखें ये वीडियो:-

इन विज्ञापन और पोस्टर्स को लेकर पंजाब भाजपा (BJP) के सचिव सुखपाल सिंह सरा ने पुलिस से शिकायत की थी, तत्पश्चात, पुलिस ने एफआईआर (FIR) दर्ज करते हुए आयोजकों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में फिलहाल पुलिस दोनों ही गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ कर रही है। पोस्टर सामने आते ही स्थानीय लोग हैरान हो गए।

पंजाब भाजपा (BJP) के सचिव सुखपाल सिंह सरा ने पुलिस से शिकायत करी

प्राप्त जानकारियों के मुताबिक यह ब्यूटी कॉन्टेस्ट आने वाली तारीख 23 अक्टूबर 2022 को बठिंडा के एक होटल में होने वाला था।इस पोस्टर को देख जिले के विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संगठनों ने इस तरह के अभद्र सार्वजनिक समारोह का कड़ा विरोध किए जाने के बाद पुलिस हरकत में आ गई। साथ ही पुलिस ने तत्काल रूप से कारवाई करते हुए कार्यक्रम के आयोजक सुरिंदर सिंह और राम दयाल सिंह को आईपीसी (IPC) की धारा 501, 509 और 109 के तहत गिरफ्तार कर लिया है।

लड़कियों का शोषण कराते है ऐसा लालच देकर – पंजाब बीजेपी सचिव सुखपाल सिंह सरा

पंजाब भाजपा (BJP) के सचिव सुखपाल सिंह सरा ने बयान देते हुए कहा – “की ऐसे लोग इस प्रकार के ऑफर का लालच देकर कनाडा में रहने वाले पुरुषों का विवाह भारतीय लड़कियों से कराकर स्त्रियों का शोषण कर सकते है पुलिस को इस मामले की जल्द से जल्द जांच करनी चाहिए।”

जाति विभाजन का मामला

इस पोस्टर के इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस ने जांच – पड़ताल शुरू कर दी थी। वही पुलिस का यह भी मानना है की ऐसी प्रतियोगिता में जाने वाली लकड़ियों को यह जाल में फसाने की साजिश थी। गौरतलब है कि इस पोस्टर में यह भी छपा था कि यह प्रतियोगिता केवल ‘सामान्य जातियों’ की लड़कियों के लिए है। साथ ही यह भी दावा किया गया था कि ‘NRI दूल्हा’ भी ‘सामान्य जाति’ का ही होगा। ऐसे में यह जाति को भी बांटने का कार्य था। वही लोगों ने इसे इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट करके इसे महिलाओं का अपमान बताया है और साथ में यह भी कहा कि यह जाति विभाजन को बढ़ावा दे रहा है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

पंजाब में जनता से डरकर भाग रहे AAP नेता, घटना का वीडियो आया सामने

%d bloggers like this: