दिल्ली हाईकोर्ट ने ऑक्सीजन-संकट के मामले में सुनवाई करते हुए कहा की “जो भी ऑक्सीजन की सप्लाई को रोकेगा, हम उसे फांसी पर लटका देंगे”.

देश की राजधानी दिल्ली कोरोना काल के सबसे कठिन दौर से गुजर रही है क्योंकि दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी देखने को मिल रही है. इसी विषय को गम्भीरता से लेते हुए दिल्ली के महाराज अग्रसेन अस्पताल की ओर से हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई.

ऑक्सीजन

ऑक्सीजन सप्लाई रोकने वाले को होगी फांसी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान सख्ती दिखाते हुए कहा की “जो भी ऑक्सीजन की सप्लाई को बाधित करने की कोशिश करेगा, हम उसे फांसी पर लटका देंगे”. बता दें यह सुनवाई जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस रेखा पल्ली की बेंच ने की है, उन्होंने इतना सख्त फैसला गंभीर रूप से बीमार कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान हो रही Oxygen की कमी को देखते हुए लिया.

सुनवाई के दौरान दिल्ली हाई कोर्ट ने यह भी कहा की “यह आपराधिक स्थिति है, अगर कोई ऑक्सीजन की सप्लाई रोकता है, तो उसे किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे और फांसी पर लटका देंगे, ऑक्सीजन को लेकर उठाए जा रहे कदम से अदालत संतुष्ट नहीं है, इस मामले में हम किसी को भी नहीं छोड़ेंगे, चाहे वह नीचे का अधिकारी हो या बड़ा अधिकारी”.

ऑक्सीजन की कमी को लेकर सरकारों को फटकार लगाई

हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से पूछा की आखिर कौन है जो दिल्ली में आ रही ऑक्सीजन सप्लाई को रोक रहा है, कोर्ट ने यह भी कहा की “हम उस व्यक्ति को लटका देंगे. हम किसी को भी नहीं बख्शेंगे, दिल्ली सरकार स्थानीय प्रशासन के ऐसे अधिकारियों के बारे में केंद्र सरकार को भी ये बताए ताकि वो उनके खिलाफ कार्रवाई कर सके”.

दिल्ली में एक हफ्ते के लॉकडाउन का ऐलान, शराब की दुकानों पर भीड़

हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया की वो ये स्पष्ट करे कि दिल्ली को कितनी ऑक्सीजन मिलेगी, कोर्ट ने कहा की “हम कई दिनों से सुनवाई कर रहे हैं, रोजाना एक ही तरह की बात सुनाई दे रही है, अखबारों और चैनलों में बताया जा रहा है कि हालात गंभीर है, इसलिए केंद्र सरकार ये बताए कि दिल्ली को कितनी ऑक्सीजन मिलेगी और कैसे आएगी”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

दिल्ली के अस्पतालों में कुछ ही घंटों का ओक्सीजन बाकी, केजरीवाल ने किया ट्विट

By Sachin

One thought on “ऑक्सीजन सप्लाई को रोकने वाले को फांसी पर लटकाया जाएगा –दिल्ली हाईकोर्ट”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *