हिंसक

BKU नेता राकेश टिकैत ने हिंसक बात करते हुए सरकार को चेताया की “महीनों से चल रहे किसान आंदोलन को या तो बातचीत से खत्म किया जाए या गोलियों से”.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारतीय किसान यूनियन यानि की बीकेयू (BKU) नेता राकेश टिकैत ने 8 जुलाई 2021, गुरुवार को मीडिया में हिंसक बयान जारी कर कहा की “किसान बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन बिना किसी शर्त के”. टिकैत ने कहा की “किसान आंदोलन को या तो बातचीत से खत्म करो या गोलियों से”. उन्होंने इस बातचीत में ओर भी कई मुद्दों को उजागर किया.

टिकैत ने कहा की “सरकार चाहती है कि किसान उससे सशर्त बातचीत करे लेकिन ऐसा नहीं होगा क्योंकि किसान पिछले 8 महीनों से सरकार की बात मानने के लिए प्रदर्शन में नहीं बैठे हैं. सरकार बातचीत के लिए शर्त रख रही है. वो कह रहे हैं कि कानूनों में संशोधन के लिए चर्चा की जा सकती है. किसान यहाँ 8 महीनों से सरकार के आदेश मानने के लिए नहीं बैठे हैं. अगर सरकार बातचीत करना चाहती है तो बिना शर्त बातचीत करे. सरकार चाहे तो बातचीत से किसानों के आंदोलन को खत्म करे या गोलियों से लेकिन कृषि कानूनों के समाप्त होने तक आंदोलन खत्म नहीं होगा”.

इससे पहले भारतीय केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के कहा की “सरकार बातचीत के लिए तैयार है, ऐसे में किसान अपना प्रदर्शन खत्म करें और बातचीत के लिए आगे आएं”. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने एक आश्वासन भी दिया की “कृषि उपज मंडी समितियां (APMC) बनी रहेंगी तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कृषि उपज की खरीद भी जारी रहेगी. साथ ही इन्हें और भी मजबूत भी किया जाएगा. किसानों से कई बार यह कहा गया है कि सरकार कृषि कानूनों को खत्म करने की बजाय उनके प्रावधानों पर चर्चा करने के लिए पूरी तरह से तैयार है”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

किसानों ने 2 पुलिसकर्मियों को पिटा, राकेश टिकैत ने दी सफाई

One thought on “हिंसक हुए टिकैत: किसान आंदोलन को या तो बातचीत से खत्म करो या गोलियों से”

Leave a Reply

%d bloggers like this: