अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने आज धारा 370 हटने के बाद पहली बार कश्मीर का दौरा किया, इस दौरान उन्होंने बताया की कश्मीर में अमन और शांति का विकास हुआ है.

वर्ष 2019 में जम्मू और कश्मीर से भारत सरकार ने धारा 370 को हटाया था और यह एक ऐतिहासिक क्षण भी बन गया था. लेकिन हाल ही में घाटी में कुछ असामाजिक तत्वों ने अराजकता फ़ैलाने की कोशिश है. इसी कारण देश के गृह मंत्री अमित शाह आज कश्मीर के दौरे पर गए हैं और उनका यह दौरा 3 दिनों का होने वाला है. इस दौरान वे घाटी में सुरक्षा की समीक्षा करेंगें और वहां के कई बड़े अधिकारीयों के साथ अहम बैठक भी करेंगें.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस दौरे के दौरान अमित शाह ने बयान दिया “कश्मीर में शांति की शुरुआत हुई है. यहां के युवा आज विकास की बात कर रहे हैं. अब यहां से पत्थरबाज अदृश्य हो गए हैं. 5 अगस्त 2019 के बाद J&K  में पारदर्शिता आई है. अब लोगों को रोजगार और शिक्षा मिल रही है. इस बदलाव की बयार को कोई रोक नहीं सकता है. इस तरह के कार्यक्रम जरूरी हैं. कश्मीर की 70 प्रतिशत आबादी युवा है. अगर इस आबादी को विकास के काम करने में जोड़ दिया जाए तो कश्मीर की शांति में कोई खलल नहीं पहुंचा सकता है”. उन्होंने आगे कहा “70 साल में देश को क्या मिला ये मैं कहना नहीं चाहता. लेकिन और 70 साल में कश्मीर को 6 सांसद और तीन परिवार मिले थे. मेरे परिवार का कोई राजनीति में नहीं है”. गृह मंत्री अमित शाह कहा “जम्मू-कश्मीर में लोगों को भड़काने का काम किया गया. इंटरनेट बंद करने पर सवाल उठाए गए. लेकिन हमारे इंटरनेट बैन करने से ही घाटी में दहशत गर्दी कम हुई. इंटरनेट बैन करने से युवा सुरक्षित रहे. 2014-21 तक आंतकवाद कम हुआ है. अब कश्मीर की शांति में खलल पहुंचाने वालों के साथ सख्ती से निपटा जा रहा है. हमारा मकसद दहशत गर्दी को खत्म करना है. क्योंकि ऐसा किए बिना शांति नहीं आ सकती”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

“ओर भी होंगी सर्जिकल स्ट्राइक” गृहमंत्री अमित शाह का दावा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: