शिवमोगा

कर्नाटक के शिवमोगा में उठे बवाल के बीच अब घटना के चश्मदीद का बयान भी सामने आया है, जिसमें उन्होंने कई बड़े खुलासे भी किए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कर्नाटक के शिवमोगा में वीर सावरकर के पोस्टर पर हुए बवाल के बाद अब चश्मदीदों ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। बताया जा रहा है कि जहाँ पर सावरकर के पोस्टर फाड़े गए वहाँ पर तिरंगे का भी अपमान हुआ। कथिततौर पर सावरकर की तस्वीर फाड़ने वाले उस जगह टीपू सुल्तान और मोहम्मद अली जिन्ना के पोस्टर लगाना चाहते थे। देखें चश्मदीद का वीडियो:-

वहीं प्रेम सिंह को चाकू मारने वालों को लेकर बताया गया है कि हमलावरों ने प्रेम के माथे पर टीका देखकर अटैक किया था। भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष व चश्मदीद ने कहा कि 50 से 60 गुंडे सावरकर के पोस्टर फाड़ने के लिए आए थे। उन्होंने तिरंगे को अपमानित किया। वह सावरकर के पोस्टर फाड़ कर मोहम्मद अली जिन्ना और टीपू सुल्तान के पोस्टर लगाना चाहते थे।

चश्मदीद ने ये भी बताया कि गाँधी मैदान के बाहर कैसे एक व्यक्ति को चाकू मार दिया गया। चश्मदीद ने कहा “कल पूरा देश स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगाँठ की खुशी में डूबा था और भारत के स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर रहा था। हमने भी सार्वजनिक स्थान पर कई स्वतंत्रता सेनानियों के होर्डिंग लगाए, जिनमें से एक पोस्टर विनायक दामोदर सावरकर का था।”

उन्होंने कहा “लगभग 50 से 60 गुंडों ने इकट्ठा होकर सावरकर के पोस्टर को फाड़ा जो तिरंगे के बीच था। उन्होंने पोस्टर तोड़ने के लिए अपने पैरों का इस्तेमाल किया और इस तरह उन्होंने तिरंगे को भी अपमानित किया। वे मुहम्मद अली जिन्ना और टीपू सुल्तान के पोस्टर लगाने आए थे। झड़प के बाद हमारा एक कार्यकर्ता दोपहर भोजन के लिए अकेले घर जा रहा था, जिसे गाँधी मैदान के पास चाकू मार दिया गया।”

गौरतलब है कि कर्नाटक के शिवमोगा में जिस व्यक्ति को चाकू मारने की बात सामने आई है उस व्यक्ति की पहचान प्रेम सिंह के तौर पर हुई है। एक चश्मदीद ने बताया कि उनके माथे पर तिलक लगा देख उन्हें पकड़ा गया और उन्हें चाकू मारा गया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस चाकू घोंपने के मामले में 4 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

कर्नाटक के कोलार में हुई करौली जैसी घटना, राम भक्तों पर बरसे पत्थर: देखें पत्थराव का पूरा वीडियो

%d bloggers like this: