ज्ञानवापी

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर का एक ओर वीडियो सामने आ गया है, इसमें महादेव के शस्त्र और शिवलिंग स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार विवादित ज्ञानवापी ढाँचे के नीचे एक हिंदू मंदिर के अस्तित्व के सबसे स्पष्ट संकेत ऑनलाइन सामने आए नए वीडियो में दिख रहे हैं। वीडियो में मस्जिद के वजूखाना के अंदर शिवलिंग स्पष्ट शिवलिंग दिख रहा है। साथ ही तहखानों की दीवारों पर स्वस्तिक, त्रिशूल, कमल और हिंदू देवताओं के रूपांकनों को उकेरा गया है।

आपको बताते चलें की ज्ञानवापी विवादित ढाँचे के मामले पर सोमवार (30 मई, 2022) को कोर्ट के आदेश के बाद शपथपत्र देने के साथ ही बंद लिफाफे में सर्वे की रिपोर्ट और वीडियो की सीडी पक्षकारों को सौंप दी गई। हालाँकि, रिपोर्ट सौंपने के कुछ देर बाद ही पहले की तरह यह रिपोर्ट भी लीक हो गई और सर्वे का वीडियो वायरल हो गया।

बता दें की हिन्दू पक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस कर दावा किया कि सर्वे के वीडियो को किसी ने वायरल कर दिया है। हिन्दू पक्ष ने अपने चारों लिफाफे भी मीडिया को दिखाए और दावा किया कि हमारे लिफाफे अभी तक सील बंद हैं। जानकारी देते चलें की हाल ही में अदालत में शपथपत्र देने के बाद हिन्दू पक्ष की तरफ से वादी पक्ष की पाँच में से चार महिलाओं को सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट की सीडी मिली थी।

वहीं इस मामले में हिन्दू पक्ष के वकील सुधीर जैन कहा “हम लोगों को मिला लिफाफा अभी तक खोला ही नहीं गया है। अभी हम लोगों को पता चला कि वीडियो कुछ मीडिया प्लेटफार्म पर चल रहा है। अब हम कोर्ट से इस बारे में शिकायत करेंगे। हम लोगों को कोर्ट से चार लिफाफे मिले थे, चारों लिफाफे अभी तक सील बंद हैं। हम लोगों ने लीक नहीं किया है।”

गौरतलब है की शपथ पत्र नहीं देने के कारण दूसरे पक्ष को अभी रिपोर्ट और सीडी नहीं मिली है। ऐसे में अदालत से केवल चार ही लिफाफे दिए गए और चारों को सील बंद बताने के बाद भी लीक कैसे हुआ, इस बात पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। वहीं ज्ञानवापी विवादित ढाँचे को लेकर वाराणसी कोर्ट में आज सुनवाई हुई थी। वहीं कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 4 जुलाई की तारीख दी है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

ज्ञानवापी सर्वे की लीक हुई तस्वीरें, अभी देखें परिसर के तहखाने का ये वीडियो

2 thoughts on “ज्ञानवापी मस्जिद में स्पष्ट दिखे त्रिशूल चिन्ह व शिवलिंग, देखें सर्वे का नया वीडियो”

Comments are closed.

%d bloggers like this: