उत्तराखंड की सियासत में आपसी तालमेल बिगड़ गया है, मुख्य मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पार्टी के आंतरिक तनाव के चलते अपने CM पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.

त्रिवेंद्र सिंह रावत

देश में इस समय एक ओर जहां पश्चिम बंगाल समेत 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, तो वहीं दूसरी तरफ़ उत्तराखंड के राजनीतिक समीकरण बिगड़ गए हैं. राज्य के मुख्य मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने CM पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. अब भारतीय जनता पार्टी द्वारा नया मुख्य मंत्री चुनने के लिए कल विधायक दल की बैठक होगी.

त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे का कारण

मुख्य मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आज ही राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को अपना इस्तीफ़ा पत्र सोंप दिया. TS रावत ने अपने इस्तीफ़े के बाद बयान जारी कर इस्तीफे का कारण बताते हुए कहा की “मेरे इस्तीफे के कारण जानने के लिए दिल्ली जाना पड़ेगा”.

CM ने अपने बयान में कहा की “ये निर्णय पार्टी ने सामूहिक रूप से लिया है, राज्य में अब किसी ओर को मौका देना चाहिए. मैं कभी सोच भी नहीं सकता था कि मुझे इस पद पर काम करने का अवसर मिलेगा लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने मुझे यह अवसर प्रदान किया ऐसा केवल इसी पार्टी में ही हो सकता है”. उन्होंने अगले होने वाले CM को शुभकामना भी दी है.

त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे के बाद कोंग्रेस की प्रतिक्रिया

भारतीय जनता पार्टी में हो रही कशमकश के दौरान कोंग्रेस भाजपा पर कटाक्ष करने का मौका मिल गया है. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता हरीश रावत ने ट्वीट करके लिखा की “जिस तरीके से आज सत्ता परिवर्तन दिखाई दे रहा है, वैसे 2022 में भाजपा जाएगी और कांग्रेस आएगी”.

CM के इस्तीफे के बाद अब राज्य में नए मुख्य मंत्री को लेकर भी अटकलें लगाई जा रही है, इसकी दौड़ में भाजपा के विधायक धन सिंह रावत, राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी और सांसद अजय भट्ट जैसे नेताओं का नाम सबसे आगे हैं.

इसे भी पढ़ें:-

शिवराज के राज्य में लवजिहाद पर लागु हुआ कानून, विधानसभा में पारित

One thought on “त्रिवेंद्र सिंह रावत का उत्तराखंड CM पद से इस्तीफ़ा, जानिए पूरी कहानी”

Leave a Reply

%d bloggers like this: