Twitter

केंद्र सरकार ने Twitter को फटकार लगाई है, भारत सरकार ने कोंग्रेस के Toolkit मामले से जुड़ी तस्वीरों पर Manipulated Media टैग लगाने पर फटकार लगाई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार केन्द्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने Twitter से ‘Manipulated Media’ टैग को हटाने के आदेश दिए हैं, मंत्रालय ने ट्विटर को यह भी बताया की टूलकिट सही है अथवा गलत, यह तय करना जाँच एजेंसियों का काम है न कि ट्विटर का. बता दें की ट्विटर की ग्लोबल टीम से केन्द्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सीधा संपर्क कर आदेश दिए गए.

भारतीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा कहा गया की “ट्विटर द्वारा कोंग्रेस के टूलकिट के लिए ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ का उपयोग किया जाना एकपक्षीय निर्णय है और एजेंसियों ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए जाँच शुरू कर दी है”. इसके अलावा मंत्रायल ने यह भी कहा की “Manipulated Media टैग का उपयोग किया जाना न केवल ट्विटर के निष्पक्ष व्यवहार पर प्रश्न उठाता है, बल्कि उसके एक निष्पक्ष प्लेटफॉर्म होने के दावे पर भी सवाल खड़ा करता है”.

गोरतलब है की इस विषय पर कोंग्रेस की ओर से भी Twitter को एक Email (ईमेल) किया गया था, ये ईमेल कोंग्रेस की ओर से बुधवार 19 मई 2021 को किया गया था. बता दें की इनमें Congress ने ट्विटर से कहा था की “कोंग्रेस के Toolkit के विषय में पोस्ट करने वाले भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रवक्ता सम्बित पात्रा और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत व अन्य भाजपा नेताओं के ट्विटर अकाउंट सस्पेंड किए जाएं”.

दरअसल कोंग्रेस के द्वारा किए गए ट्विटर को ईमेल के बाद ट्विटर ने ही टूलकिट से जुड़ी सभी जानकारी अथवा तस्वीर को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ की कैटेगरी में रख दिया, केवल इतना ही नहीं बल्कि ट्विटर ने तो इस मामले में भाजपा प्रवक्ता सम्बित पात्रा के ट्वीट पर ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ का टैग लगा दिया.

याद दिला दें की जिस टूलकिट की बात हो रही है, उसे भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने मीडिया कोंफ्रेंस कर खुलासा किया. उन्होंने प्रमाण सहित बताया की कैसे एक टूलकिट बनाकर कोंग्रेस पार्टी देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने में लगी हुई हैं, पात्रा ने इसकी कड़ी निंदा भी करी. बता दें की कोंग्रेस ने BJP के इस दावा सिरे से नकारा है, लेकिन गौर करने वाली बात यह है की अभी INC ने इसको साबित नहीं कर पाई है की ये दावा झूठा है.

इसे  भी जरुर ही पढिए:-

Toolkit से मोदी की छवि खराब करने की साजिश, कोंग्रेस ने भी तोड़ी चुप्पी

One thought on “Twitter को केंद्र सरकार ने फटकारा, दिए ये आदेश”

Leave a Reply

%d bloggers like this: