राष्ट्रपति

आज से कुछ ही हफ्तों बाद देश को नया राष्ट्रपति मिलने वाला है, लेकिन उससे पहले विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा का एक वीडियो सामने आया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने एक बयान जारी कर कहा है कि अगर वह चुने जाते हैं, तो वह सुनिश्चित करेंगे कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) लागू न हो। असम के विपक्षी सांसदों के साथ बातचीत करते हुए सिन्हा ने कहा कि भाजपा नीत सरकार सीएए को अभी तक लागू नहीं कर पाई है क्योंकि यह जल्दबाजी में “मूर्खतापूर्ण मसौदा” तैयार किया गया था। वीडियो में सुने उनका पूरा बयान:-

आपको बताते चलें की राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने आगे कहा “असम के लिए नागरिकता एक बड़ा मुद्दा है, और सरकार पूरे देश में अधिनियम लाना चाहती थी, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं कर पाई है।” उन्होंने कहा “पहले सरकार ने COVID का बहाना दिया, लेकिन अब भी वे इसे लागू नहीं कर पाए हैं क्योंकि यह जल्दबाजी में मूर्खतापूर्ण तरीके से तैयार किया गया अधिनियम है।”

वहीं सिन्हा ने आरोप लगाया कि संविधान किसी बाहरी ताकत से नहीं बल्कि सत्ता में बैठे लोगों से खतरे में है। उन्होंने कहा, “राष्ट्रपति चुनाव का विशेष महत्व है क्योंकि यह संविधान को बचाने की लड़ाई है।” उन्होंने कहा, “अगर मैं राष्ट्रपति भवन में रहा, तो मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि सीएए लागू न हो।” सिन्हा ने कहा कि वर्तमान नेतृत्व ने “पूरी तरह से गलत” रास्ता अपनाया है, यह महसूस करने के बाद उन्हें 2018 में भाजपा छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा।

गौरतलब है की पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि सत्ताधारी दल और उसकी सरकार देश की हर संस्था को तबाह कर रही है। उन्होंने दावा किया “ईडी, सीबीआई, आयकर विभाग और यहां तक ​​कि राज्यपाल के कार्यालयों जैसी एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्षी नेताओं को निशाना बनाने, दलबदल करने और विपक्ष द्वारा संचालित राज्य सरकारों को गिराने के लिए किया जा रहा है।”

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

राम के बिना अयोध्या की कल्पना असंभव :राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

One thought on “VIDEO: विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार ने कहा “राष्ट्रपति बनने के बाद CAA को मंजूरी नहीं दूंगा””

Comments are closed.

%d bloggers like this: