मंदिर

ज्ञानवापी विवाद के बीच भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा “हमने 3 मंदिर मांगे थे, तुम नहीं माने! अब सारे वापस लेंगे”

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वाराणसी (Varanasi) में जारी ज्ञानवापी विवाद (Gyanvapi Row) के बीच कानपुर (Kanpur) के बिठूर से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक अभिजीत सिंह सांगा (MLA Abhijeet Singh Sanga) ने मंदिर तोड़कर बनाई गई इबादतगाह पर पर बड़ा बयान दिया है। अभिजीत सिंह सांगा के इस बयान के बाद सियासी हलचल बढ़ गई है।

आपको बताते चलें की ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे को लेकर चल रहे विवाद के बीच विधायक ने महाभारत के कौरवों की राजसभा में भगवान कृष्ण के पांच गांवों को दिए जाने के प्रस्ताव से पूरे विवाद को जोड़कर ये बड़ी बात कही है। दरअसल विधायक अभिजीत सिंह सांगा ने अपने हालिया ट्वीट में लिखा “दुर्योधन ने पांच गांव नहीं दिए थे तो उन्हें पूरा राज्य खोना पड़ा था। हमने तीन मंदिर मांगे थे, तुम नहीं माने. अब तैयार रहो, सारे मंदिर वापस लेंगे।”

गौरतलब है की बीते कुछ दिनों में देश के अलग-अलग हिस्सों में बने प्रमुख धार्मिक स्थलों और इमारतों को लेकर लगातार कई दावे किए जा रहे हैं और कोर्ट में याचिकाएं भी दाखिल की गई हैं। इसी सिलसिले में वाराणसी में हिंदू पक्ष के दावों को लेकर सर्वे भी करवाया गया जिसमें मस्जिद के तहखाने में एक बड़ा शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है। इस मामले पर अब सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है।

वहीं मथुरा स्थित शाही इदगाह मस्जिद को लेकर कोर्ट में एक और याचिका दायर की गई। अब इसी याचिका श्रीकृष्ण विराजमान की याचिका पर फैसला आ गया है। जिला जज की अदालत ने रिवीजन पिटीशन को स्वीकार कर लिया है। गुरुवार को जिला अदालत में हरिशंकर जैन, विष्णु जैन और रंजना अग्निहोत्री सहित आठ लोगों की याचिका श्रीकष्ण विराजमान पर सुनवाई की गई। याचिका में कहा गया था कि शाही ईदगाह मस्जिद कृष्ण जन्मभूमि के ऊपर बनी है, इसलिए उसे हटाया जाना चाहिए।

इस भी जरूर ही पढ़िए:-

भारत में औरंगजेब के कितने अंधभक्त? ये वीडियो आपको बताएगा पूरा सच!

One thought on “हमने 3 मंदिर मांगे थे, तुम नहीं माने! अब सारे वापस लेंगे: इस भाजपा विधायक ने किया ऐलान”

Comments are closed.

%d bloggers like this: