पादरी

ईसाई पादरी जॉर्ज पोन्नैया ने अपने एक देश विरोधी बयान पर सबसे माफ़ी मांग ली हैं, उसने भारत माता को बीमारी फ़ैलाने वाला बयान सबके सामने दिया था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सोशल मीडिया पर ‘जनन्याग क्रिस्थुवा पेरवई अमाईपु’ नामक NGO के सलाहकार व ईसाई पादरी जॉर्ज पोन्नैया का भारत विरोधी बयान वाला एक वीडियो वायरल हो रहा है, इस वीडियो में वो कहता है की “वो इसलिए चप्पल नहीं पहनते क्योंकि वो भारत माता को दर्द नहीं देना चाहते और हम लोग इसलिए चप्पल पहनते हैं ताकि हमारे पैर गंदे न हों और भारत माता के कारण हमें कोई बीमारी न हो”.

वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लग गया. परिणामस्वरूप पादरी जॉर्ज पोन्नैया का लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया और लोगों ने उसके इस बयान की कड़ी निंदा भी करी. बताया जा रहा है की पादरी पर कुल 30 केस दर्ज हो गए हैं. उसने ये बयान स्टेन स्वामी के निधन के बाद 18 जुलाई को कन्याकुमारी के अरुमनई में बुलाई गई सभा में दिया था. ईसाई पादरी जॉर्ज पोन्नैया ने भारत विरोधी बयान नागरकोली के भाजपा विधायक एम आर गांधी पर तंज कसते हुए दिया.

पोन्नैया ने हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ बंदोबस्त बोर्ड के मंत्री शेखर बाबू व आईटी मंत्री मनो थंगराज सहित अन्य को उनके कार्यों के लिए भला बुरा कहा, जो कथित तौर पर हिंदू समुदाय के पक्ष में थे. अब बताया जा रहा है की उसने सबसे माफ़ी भी मांगी है, इस माफीनामा में पादरी ने कहा की “वीडियो देखने के बाद कई लोगों ने गलत समझा कि मैं हिंदुओं के ख़िलाफ़ बोल रहा हूँ. मैंने या किसी ने भी सभा में ऐसा कुछ नहीं होला। अगर उसके बावजूद मेरे हिंदू भाई बहनों की भावना आहत हुई तो मैं दिल से माफी माँगता हूँ. मैं अपने प्यारे हिंदू भाई और बहनों को कहना चाहता हूँ कि मैं ऐसी टिप्पणी दोबारा कभी नहीं पास करूँगा”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

एक अंधविश्वास ने बना दिया सैकड़ों लोगों को हिंदू से ईसाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: