वाट्सऐप

वाट्सऐप (Whatsapp) ने भारत सरकार पर दिल्ली हाई कोर्ट में केस फाइल किया हैं. जिसमे वाट्सऐप (Whatsapp) का कहना है की भारत सरकार संविधान के खिलाफ़ जाने की बात कर रही हैं.

वाट्सऐप

वाट्सऐप (Whatsapp) का कोर्ट को कुछ इस तरह से कहना है की सरकार ने हमे जो नए नियम लागु करने को कहा है और अगर हम उन्हें है तो भारत के संविधान को खतरा होगा. क्योंकि भारत के संविधान में प्रत्यक व्यक्ति को गोपनीयता का अधिकार हैं, लेकिन इन नियमों मेसे एक नियम से इन्हीं को खतरा होगा. वाट्सऐप (Whatsapp) के मुताबिक भारत सरकार के नए नियम संविधान में वर्णित निजता के अधिकार का उल्लंघन करते हैं.

 

जानिए क्या है वो नियम जिसके कारण हुआ कोर्ट केस

नए नियम के अनुसार वाट्सऐप (Whatsapp) को उन लोगों की पहचान बतानी हैं, जिनपर गलत जानकारी साझा करने का आरोप हैं. लेकिन वाट्सऐप (Whatsapp) का कहना है कि हम यह नहीं कर सकते. क्योंकि हमारे मेसेज एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड यानी कूट भाषा में होते हैं. नए नियम का पालन करने के लिए हमें मेसेज प्राप्त करने वालों के लिए और मेसेज को सबसे पहले शेयर करने वालों के लिए इस एन्क्रिप्शन को ब्रेक करना पड़ेगा.

 

वाट्सऐप प्रवक्ता ने कही इतनी बड़ी बात

वाट्सऐप के प्रवक्ता ने कहा कि ‘वाट्सऐप के मैसेज एन्क्रिप्ट किए गए हैं ऐसे में लोगों की चैट को इस तरह ट्रेस करना वॉट्सऐप पर भेजे गए सभी मैसेज पर नजर रखने के बराबर है जो कि यूजर्स की प्राइवेसी को खत्म कर देगा’. आगे प्रवक्ता कहते है की ‘हम प्राइवेसी के हनन को लेकर दुनियाभर की सिविल सोसाइटी और विशेषज्ञों के संपर्क में हैं. इसके साथ ही लगातार भारत सरकार से चर्चा के जरिए इसका समाधान खोजने में लगे हैं. हमारा मसकद लोगों की सुरक्षा और जरूरी कानूनी समस्याओं का हल खोजना हैं’.

 

यह भी जरुर पढ़ें :-

यही वो कारण है जिसकी वजह से बंद हो रहे है Facebook, Twitter और Instagram

By Sachin

One thought on “वाट्सऐप ने ठोका भारत सरकार पर केस, लगाया संविधान के खिलाफ़ जाने का आरोप”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *