ऑडियो वायरल

राजनीतिक दल ‘भीम आर्मी’ के कार्यकर्ता दीपू कुमार की एक ऑडियो वायरल हो चुकी हैं, जिसमें वे ब्राह्मणों और ठाकुरों लडकियों के साथ शोषण की बात को बड़ी अभद्रता से स्वीकारता हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ‘भीम आर्मी’ से जुड़े कार्यकर्ता दीपू कुमार की एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं, जिसमें वह पंडितों और सामान्य वर्ग की लडकियों के साथ यौन शोषण करने की बात को स्वीकार करता है. बताया जा रहा है की इस ऑडियो में दीपू आजाद सेना के चीफ़ से बातचीत के दौरान अपने ऐसे चरित्र का खुलासा करता है, जिसमें वो वो न सिर्फ सामान्य वर्ग की बहू-बेटियों के साथ बलात्कार की धमकी दे रहा है, बल्कि ‘सवर्णों’ को जान से मार डालने की बातें भी कर रहा है.

सोशल मीडिया पर ऑडियो के वायरल होते ही लोगों ने अपना गुस्सा निकालते हुए ‘अरेस्ट भीम आर्मी वर्कर’ के नाम से ट्रेंड भी चलाया, इसके साथ साथ इसी घटिया भाषा को लेकर प्रशासन से कड़ी कारवाई की भी मांग करी हैं. बता दें की यह ऑडियो 8 जून 2021 यानि की बीते मंगलवार की रात की हैं. जब दीपू ने फ़ोन पर ‘आज़ाद सेना’ के अध्यक्ष अभिषेक शुक्ल से बात करी. इस ऑडियो में दीपू कुमार ब्राह्मण और राजपूत समाज को जान से मार डालने की धमकी देते हुए गंदी-गंदी गालियाँ बकते सुना जा सकता है.

बातचीत के दौरान जब अभिषेक ने पूछा की “क्या ये दल तुम्हें ब्राह्मण लड़कियों को ‘फँसाने’ को कहते हैं?” जिस पर बड़ी बेशर्मी से जवाब देते हुए उसके कहा की “फँसानी किसे है? लेनी है, ले लेते हैं”. उसने बातचीत में यह भी स्वीकारा की एक बार उत्तर प्रदेश में सरकार बदल जाए, फिर वो बता देगा, उसने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी और मायावती की बहुजन समाज पार्टी का नाम लेते हुए कहा कि उसकी पहुँच इन सभी दलों में है. ऑडियो में उसने ये भी दावा किया कि आर्य समाज के लोगों को पंडितों को काटा है. दीपू कुमार ने फोन कॉल पर घृणित बयान देते हुए कहा कि उसने कई ब्राह्मण और राजपूत लड़कियों का बलात्कार किया है और पंडितों और ठाकुरों को मौत के घाट उतारा है, इसके अलावा उसने कहा की  “तुमलोग कुछ नहीं कर सकते, हमने तुम्हारी लड़कियों को लालच देकर फँसा लिया है, मेरे दोस्त रोज तुम्हारी लड़कियों के साथ सेक्स करते हैं”.

इसे भी पढिए:-

झारखंड में BJP नेता की नाबालिग युवती की आंखें नोंच फंदे पर झुलाया, बलात्कार की शंका

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *